इस तरह इंसानों में बर्ड फ्लू फैलने का खतरा ज्यादा, नहीं है इसका कोई इलाज

मनुष्यों में अभी बर्ड फ्लू नहीं फैला है लेकिन इसके लिए राज्यों औऱ केन्द्र शासित प्रदेशों को पूरी सावधानी बरतनी चाहिए।

मत्स्य पालन मंत्री संजीव बालियान ने बुधवार को कहा कि बर्ड फ्लू मनुष्यों में भी फैल सकता है, इसलिए राज्यों को सभी सावधानी बरतनी चाहिए। मत्स्य पालन मंत्री ने कहा कि वर्तमान में मनुष्यों में अभी बर्ड फ्लू नहीं फैला है लेकिन इसके लिए राज्यों औऱ केन्द्र शासित प्रदेशों को पूरी सावधानी बरतनी चाहिए।

Bird flu

इस बीमारी का उपचार नहीं है। अभी तक एच5एन1 वायरस पांच राज्यों में फैला है जिसमें हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, मध्यप्रदेश, राजस्थान और केरल शामिल है। हरियाणा में ये संक्रमण मुर्गी फार्म में पहुंच चुका है। इसलिए सभी प्रदेशों को इस बारे में जारी निर्देशों का सख्ती से पालन करना चाहिए।

ऐसे फैल सकता है बर्ड फ्लू

डॉक्टर नरेन्द्र सैनी ने बताया कि बर्ड फ्लू मनुष्यों में तभी फैलता है जब उसने संक्रमित पक्षी के कच्चे मांस खाया हो या फिर संपर्क में आया हों। इसके अलावा संक्रमित जगहों पर जाने वाले, कच्चा या अधपका मुर्गा-अंडा खाने वाले लोगों में भी बर्ड फ्लू फैलने का खतरा होता है। H5N1 में लंबे समय तक जीवित रहने की क्षमता होती है।

आपको अवगत करा दें कि राजस्थान में बारां, कोटा और झालावार में कौओं में बर्ड फ्लू की रिपोर्ट है वहीं, मध्यप्रदेश के मंदसौर, इंदौर और मालवा में भी कौओं में ही बर्ड फ्लू की रिपोर्ट है। जबकि हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा में प्रवासी पक्षियों में बर्ड फ्लू की रिपोर्ट है। दक्षिण भारत स्थित केरल के कोट्टायम और आलापुझा में चार जगहों पर पोल्ट्री डक यानी घरेलू बत्तख में बर्ड फ्लू की रिपोर्ट है।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *