RBI ने इस बैंक पर लगाई पाबंदी, ग्राहक अब निकाल सकेंगे सिर्फ इतने रुपये

आरबीआई ने मंता अर्बन कोऑपरेटिव बैंक पर लगाई है 6 महीने की पाबंदी, तमिलनाडु के लक्ष्‍मी विलास बैंक पर एक महीने की पाबंदी देर रात लगाया 

नई दिल्‍ली/मुंबई। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) ने मंता अर्बन कोऑपरेटिव बैंक पर छह महीने के लिए पाबंदी लगा दी है। आरबीआई ने महाराष्ट्र के जालना जिले में मंता अर्बन कोऑपरेटिव बैंक पर पैसों के भुगतान और कर्ज के लेनदेन को लेकर 6 महीने के लिए पाबंदी लगाई है। इससे पहले रिजर्व बैंक ने तमिलनाडु के निजी क्षेत्र के लक्ष्‍मी विलास बैंक पर एक महीने के लिए कई तरह की पाबंदियां लगाई हैं।

rbi

आरबीआई ने देर रात मंता अर्बन कोऑपरेटिव बैंक के बारे में जारी एक विज्ञप्ति में बताया कि उसने इस बैंक को कुछ निर्देश दिए हैं, जो 17 नवम्‍बर, 2020 को बैंक बंद होने के बाद से 6 महीने तक प्रभावी होंगे। आरबीआई की अनुमति के बिना यह बैंक कोई कर्ज या उधार नहीं दे सकेगा और न ही पुराने कर्जों का नवीनीकरण तथा कोई निवेश कर सकेगा। इसके अलावा बैंक पर नई जमा राशि स्वीकार करने पर भी पाबंदी लगा दी गई है। इसके तहत वह कोई भुगतान भी नहीं कर सकेगा और ना ही भुगतान करने का कोई समझौता कर सकेगा।

ग्राहक केवल 25,000 रुपये तक निकल सकेंगे

इससे पहले तमिलनाडु के निजी क्षेत्र के लक्ष्‍मी विलास बैंक पर एक महीने के लिए कई तरह की पाबंदियां लगा दी गई हैं। रिजर्व बैंक ने बैंक के बोर्ड को सुपरसीड कर दिया है और निकासी की सीमा  तय कर दी है। ग्राहक अब 16 दिसम्‍बर तक बैंक से अधिकतम 25 हजार रुपये की ही निकासी कर सकेंगे। रिजर्व बैंक ने सरकार की सलाह पर यह कदम उठाया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *