7 जून से खुलेंगे सभी स्कूल, जानें अनलॉक में क्या खुलेगा और क्या रहेगा बंद

गाइडलाइन के मुताबिक स्कूलों में आवश्यक प्रबंध करने के निर्देश दिए गए हैं।

जयपुर॥ राज्य की सरकारी और गैर सरकारी स्कूलों में शैक्षणिक सत्र 2021-22 सात जून से शुरू होगा। कार्मिक और शिक्षक विद्यालय में 8 जून से 50 % स्टॉफ के तौर पर रोटेशन में उपस्थिति होंगे। इसके लिए शिक्षा विभाग ने गाइडलाइन जारी कर दी है। शिक्षा निदेशक सौरभ स्वामी की ओर से जारी किए गए आदेशों में महामारी की परिस्थितियों के चलते गाइडलाइन के मुताबिक स्कूलों में आवश्यक प्रबंध करने के निर्देश दिए गए हैं।

very important precautions in unlock lockdown

आदेशों के अनुसार सात जून से अनुमत संख्या में ही कार्मिक और शिक्षक विद्यालय में उपस्थित होंगे। स्कूलों में 8 जून से 50 % स्टॉफ ही रोटेशन के आधार पर स्कूल में उपस्थिति देगा। ग्रीष्मकालीन अवकाश में मुख्यालय से अन्यत्र उपस्थित शिक्षकों को 10 जून के बाद परिवहन साधनों का संचालन शुरू होने पर ही मुख्यालय पर उपस्थित होने को कहा गया है।

इसको लेकर संस्था प्रधानों को भी ऐसे शिक्षकों और कार्मिकों को बाध्य नहीं करने के निर्देश दिए गए हैं। स्कूलों में अध्ययनरत विद्यार्थियों के लिए आओ घर से सीखें ऑनलाइन अभियान के माध्यम से विद्यार्थियों को पढ़ाया जाएगा और इसको लेकर 19 जून तक सभी तैयारियां करने के संस्था प्रधानों को निर्देश दिए गए हैं।

गाइडलाइन के मुताबिक रोटेशन के आधार पर फील्ड में काम करने वाले शिक्षकों को शाला प्रवेशोत्सव, नामांकन अभिवृद्धि अभियान, अभिभावकों से संवाद और स्माइल व्हाट्सएप ग्रुप से विद्यार्थियों और अभिभावकों को जोडऩे के साथ ही उपस्थिति रजिस्टर, विद्यार्थियों को क्रमोन्नति प्रमाण पत्र वितरण जैसे कार्यों को 19 जून तक पूरा करने को लेकर कहा गया हैं।

गाइडलाइन में बताया गया है कि सरकारी एवं गैर सरकारी विद्यालयों में 7 जून 2021 से नवीन शैक्षणिक सत्र 2021-22 का प्रारम्भ हो रहा है परन्तु कोविड -19 की परिस्थितियों के दृष्टिगत स्वास्थ्य विभाग एवं गृह विभाग की गाइडलाइन के अनुरूप ही कक्षा शिक्षण प्रारंभ किया जा सकेगा। विद्यार्थियों को घर पर रहते हुए वैकल्पिक अध्ययन की निर्बाधता के लिए सत्र 2021-22 के लिए आओ घर में सीखें 2.0 चलाया जाएगा।

संस्था प्रधान शत प्रतिशत शिक्षकों की भागीदारी सुनिश्चित करेंगें। इसमें 50 प्रतिशत शिक्षक विद्यालय में तथा अन्य 50 प्रतिशत फील्ड में रोटेशन से कार्य संपादित करेंगे। रोटेशन से फील्ड में विजिट करने वाले शिक्षक 19 जून तक आओ घर में सीखें – 2.0 कार्यक्रम तथा प्रवेशोत्सव के प्रथम चरण के लिए पुराने विद्यार्थियों से सम्पर्क करेंगे तथा नवीन नामांकन अभिवृद्धि अभियान के लिए विद्यार्थियों का चिन्हीकरण कर उन्हें विद्यालय से जोडऩे का प्रयास करेंगे।

परिक्षेत्र के विशेष आवश्यकता वाले विद्यार्थियों की पहचान कर उन्हें औपचारिक शिक्षा से जोडऩे के लिए प्रयास करेंगे तथा उनके लिए विभाग द्वारा संचालित प्रोत्साहन योजनाओं से अभिभावकों को अवगत कराएंगे। पूर्व से अध्ययनरत विशेष आवश्यकता वाले विद्यार्थियों के अभिभावकों को उनके अध्ययन के लिए चलाए जा रहे कार्यक्रमों से अवगत करवाएंगे।

अभिभावकों से सम्पर्क कर उन्हें सरकार द्वारा अध्ययन की निरन्तरता के लिए संचालित कार्यक्रमों यथा आओ घर में सीखें-2.0 स्माइल, शिक्षावाणी, शिक्षा दर्शन के संबंध में जानकारी देंगे। राज्य सरकार द्वारा विद्यार्थियों के लिए चलाई जा रही लाभकारी एवं प्रोत्साहन योजनाओं यथा मिड डे मील, नि:शुल्क पाठ्य पुस्तक, छात्रवृतियां आदि से अभिभावकों को परिचित कराएंगे।

कक्षा 1 से 9 एवं कक्षा 11 के विद्यार्थियों को आगामी कक्षा में क्रमोन्नत किया जा चुका है। रोटेशन से विद्यालय में उपस्थिति देने वाले शिक्षक व कक्षाध्यापक द्वारा नवीन कक्षा में क्रमोन्नत हुए विद्यार्थी प्रविष्टि उपस्थिति रजिस्टर एवं स्कॉलर राजस्टर में 7 से 15 जून तक प्रविष्टि करेंगे।

पिछले वर्ष की भांति इस वर्ष भी आगामी कक्षा में क्रमोन्नत विद्यार्थियों का प्रमाण पत्र शाला दर्पण से डाउनलोड कर विद्यार्थियों तक पहुंचाया जाएगा। यह कार्य 19 जून तक पूर्ण किया जाएगा। नवीन कक्षा के अनुरूप कक्षावार स्माइल व्हाट्सअप ग्रुप 15 जून तक कक्षाध्यापक बनाएंगे। शाला दर्पण पोर्टल पर उपलब्ध स्माइल मॉडयूल में वन-टाइम तथा साप्ताहिक प्रविष्टि नवीन सत्र के अनुरूप 19 जून तक की जाएगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *