BJP सांसद रीता बहुगुणा जोशी और उनकी फैमिली पर टूटा दुखों का पहाड़, 6 वर्षीय पोती की मौत

पटाखों से झुलसी भाजपा सांसद रीता बहुगुणा जोशी की छह वर्षीय पोती की मौत

लखनऊ॥ इलाहाबाद की सांसद प्रो. रीता जोशी की छह वर्षीय पोती की पटाखों से गंभीर रूप से जलने के कारण सोमवार देर रात मौत हो गई। मासूम बच्ची दीपावली पर पटाखे से बुरी तरह झुलस गई थी, उसका निजी अस्पताल में इलाज चल रहा था। घटना से परिवार बेहद सदमे में है।

Rita bahuguna joshi mp,

सांसद रीता जोशी के प्रवक्ता अभिषेक शुक्ल ने बताया कि सांसद की पोती ‘कीया’ तीन दिन से अपनी मां के साथ प्रयागराज के पुनप्पा रोड स्थित अपनी ननिहाल में थी। घटना के समय छत पर बच्चे खेल रहे थे। उस समय वहां कोई बड़ा नहीं था। इसी बीच किसी बच्चे ने पटाखा जला दिया, जिससे मासूम गम्भीर रूप से झुलस गई। उसे तत्काल निजी चिकित्सालय में दाखिल कराया गया। वह करीब 60 प्रतिशत जल गई थी। इलाज के दौरान मासूम की हालत गम्भीर होती चली गई।

इस बीच सांसद ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन से बात की। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी फोन पर बच्ची का हाल जाना। बच्ची को बेहतर इलाज के लिए आज सुबह एयर एम्बुलेंस से दिल्ली में मिलिट्री हॉस्पिटल ले जाने की तैयारी थी लेकिन इससे पहले वह जिन्दगी की जंग हार गई। सांसद के इकलौते बेटे मयंक की शादी 2007 में हुई थी। कीया उनकी इकलौती बेटी थी।

कुछ दिन पहले रीता बहुगुणा जोशी की बहू रिचा के साथ पौत्री कीया कोरोना संक्रमित पाई गई थीं। तीनों को पीजीआई लखनऊ से मेदांता दिल्ली शिफ्ट किया गया था, जहां सांसद के पति पीसी जोशी पहले से भर्ती थे। तबीयत बिगड़ने पर सांसद को आईसीयू में एडमिट कराना पड़ा था। 15 सितम्बर को वह आईसीयू से बाहर आई थीं और अस्पताल में ही अपने पति का जन्मदिन मनाया था। 21 सितम्बर को उन्हें अस्पताल से डिस्चार्ज किया गया था।

उसके बाद दिल्ली आवास में एकातंवास में रहीं। ठीक होने के बाद प्रयागराज दीपावली मनाने आई थीं। लेकिन, पर्व की खुशियां मातम में बदल गई। बताया जा रहा है कि अभी उसके पिता मयंक जोशी प्रयागराज नहीं आ सके हैं। उनका इंतजार किया जा रहा है। इसके बाद अंतिम संस्कार किया जाएगा।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *