मुख्य पुजारी को रामलला के दरबार में जाने पर लगी रोक, पूजन में शामिल न होने पर इस तरह छलका दर्द

अयोध्या, 02 अगस्त। श्रीराम जन्मभूमि में विराजमान रामलला के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास को ट्रस्ट ने रामलला के दरबार में जाने पर रोक लगा दिया है। अब उनके स्थान पर सहायक पुजारी संतोष दास पूजा करेंगे।ramlala mukhya pujari satyendra das

आगामी 5 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी श्री राम मंदिर के भूमि पूजन में सम्मिलित होंगे। जिस कारण से पूरे परिसर को रविवार को सैनिटाइज कराया गया। आचार्य सत्येंद्र दास ने रविवार को बताया कि श्रीराम जन्मभूमि परिसर में पिछले दिनों हमारे सहायक पुजारी की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव पाया गया था। लेकिन श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने हमें भी 3 दिन का रोक लगाया है।

उन्होंने कहा कि हमारी कोरोना जांच रिपोर्ट नेगेटिव पाई गई थी। हम रामलला के दरबार में 1 मार्च 1992 से पुजारी का कार्य देख रहे हैं और हर माहौल में हमने रामलला का सेवा किया है। ट्रस्ट सूत्रों से इस संदर्भ में जानकारी लेने का प्रयास किया गया,लेकिन किसी ने इसकी पुष्टि नहीं की।

उल्लेखनीय है कि 1 मार्च 1992 से श्री राम जन्मभूमि परिसर में स्थित श्री राम लला के दरबार में मुख्य पुजारी के रूप में आचार्य सत्येंद्र दास अपने सहायक पुजारियों के साथ पूजा पाठ भोग प्रसाद की सेवा करते आ रहे हैं। विगत दिनों उनके सहायक पुजारी को कोरोनावायरस पाया गया था। जिसके बाद से रामलला दरबार में कोरोना का खतरा बढ़ गया था। विगत दिनों निर्वाणी अनी अखाड़ा के श्रीमहंत धर्मदास ने पुजारी के लिए प्रधानमंत्री को लीगल नोटिस भी दिया था।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close