बढ़ी सतीश द्विवेदी की मुसीबतें, बेसिक शिक्षा विभाग में हो रहा करोड़ों का खेल

प्रदेश के 18 ज़िलों में इन विद्यालयों को कोरोना महामारी के दौरान फरवरी और मार्च माह के लिये पढाई, खाने पीने की सामग्रीऔर दवाइयों के लिये लगभग 9 करोड़ रूपये आवंटित किये गये थे।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी की मुश्किलें बढ़ती ही जा रही हैं। गलत तरीके से असिस्टेंट प्रोफेसर के पद पर नियक्ति कराने को लेकर विपक्ष मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से श्री द्विवेदी की बर्खास्तगी की मांग कर रहा है। इस बीच बेसिक शिक्षा विभाग के अंतर्गत आने वाले आवासीय कस्तूरबा बालिका विद्यालयों में भारी वित्तीय गड़बड़ी का मामला सामने आया है।

Minister Satish Dwivedi

बेसिक शिक्षा विभाग के अंतर्गत संचालित आवासीय कस्तूरबा बालिका विद्यालयों में करोड़ों की वित्तीय गड़बड़ी की शिकायत सामने आयी है। प्रदेश के 18 ज़िलों में इन विद्यालयों को कोरोना महामारी के दौरान फरवरी और मार्च माह के लिये पढाई, खाने पीने की सामग्रीऔर दवाइयों के लिये लगभग 9 करोड़ रूपये आवंटित किये गये थे। इस दौरान यूपी के सभी स्कूल और कॉलेज बंद थे, लेकिन इन पैसों को कोरोना संक्रमण के उस दौर में खर्च कर दिया गया।

उल्लेखनीय है की इन 18 ज़िलों के कस्तूरबा विद्यालयों ने प्रेरणा पोर्टल पर संबंधित स्कूल के बच्चों और खर्चे की जानकारी नहीं डाली है। शिक्षा निदेशालय की जांच में ये मामला सामने आ गया। अब इस मामले को लेकर योगी बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी पर हमले और तेज हो गए हैं। विपक्ष बेसिक शिक्षा मंत्री पर सीधे आरोप लगा रहे है।

जानकारी के मुताबिक़ इस मामले में संबंधित ज़िलों के बेसिक शिक्षा अधिकारियों को पत्र लिखकर जवाब मांगा गया है। हालांकि विभागीय अधिकारियों का मानना है कि तकनीकी गड़बड़ी के चलते भी ऐसा हो सकता है। फिलहाल निदेशक स्तर के अधिकारी मामले की जांच कर रहे है।इस तरह पहले से ही विपक्ष केहमले झेल रहे बेसिक शिक्षा मंत्री की मुश्किलें और बढ़ गई हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *