UP: शासन के बड़े अधिकारीयों को अब एसी कमरों से बाहर निकल करना पड़ेगा काम, मिला ये निर्देश

प्रमुख सचिव शहरी विकास विभाग अमृत अभिजात ने शासन के अधिकारियों को सप्ताह में दो बार शुक्रवार व शनिवार को क्षेत्र का दौरा कर स्मार्ट सिटी, अमृत के साथ केंद्र व राज्य सरकार की योजनाओं का निरीक्षण करने के निर्देश दिए हैं. बुधवार को वह कार्यभार संभालने के बाद विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक कर रहे थे.

CM YOGI

उन्होंने विभाग में मामलों की बढ़ती संख्या पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि सप्ताह में एक बार जिलेवार समीक्षा की जाए. वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए जिले के संबंधित अधिकारी को भी जोड़ा जाए। शासन स्तर पर प्रयास किया जाए कि प्रकरणों का शीघ्र निस्तारण किया जाए। शहरों में जून 2023 तक अमृत सरोवर बन जाए। स्मार्ट सिटी का काम जल्द पूरा किया जाए। साथ ही बड़े शहरों की स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट रैंकिंग की भी जानकारी ली।

उन्होंने कहा कि इलेक्ट्रिक सिटी बसों की उपयोगिता तभी सार्थक होगी जब लोग अपने कार्यस्थल पर पहुंचें और उन्हें वहां से अपने गंतव्य तक उचित सार्वजनिक परिवहन मिले। पीएम स्वानिधि योजना के तहत ऋण प्राप्तकर्ताओं का भौतिक सत्यापन किया जाना चाहिए। यह भी पता होना चाहिए कि किस व्यवसाय के लोगों ने इसका सबसे ज्यादा फायदा उठाया। उन्होंने जल निगम, अमृत योजना और स्वच्छ भारत मिशन के कार्यों की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि शहरी विकास कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षण देने के लिए विशेषज्ञों को बुलाया जाए. परियोजनाओं को प्रमुख सचिव के समक्ष प्रस्तुत किया गया।