यूपी : मस्जिद में हनुमान चालीसा और गायत्री मंत्री का जाप, मौलाना को मस्जिद से निकाला

मस्जिद से निकाले जाने के बाद मौला अली हसन गांव छोड़कर गाजियाबाद के लोनी चले गए हैं। जानकारी के मुताबिक मंगलवार को भाजपा नेता मनुपाल बंसल ने मौलाना अली हसन से आपसी सौहार्द और भाईचारा के लिए मस्जिद में हनुमान चालीसा पढ़ने की अनुमति मांगी थी।

बागपत। यूपी के बागपत जिले में मंगलवार को विनयपुर मस्जिद में हनुमान चालीसा गायत्री मंत्री के जाप का मामला सामने आया है। वीडियो वायरल होने के बाद मुस्लिम समाज ने बुधवार को एक बैठक कर मस्जिद से मौलाना को हटा दिया है। मस्जिद से निकाले जाने के बाद मौला अली हसन गांव छोड़कर गाजियाबाद के लोनी चले गए हैं।

hanuman-chalisa-in-a-mosque-in-baghpat

जानकारी के मुताबिक मंगलवार को भाजपा नेता मनुपाल बंसल ने मौलाना अली हसन से आपसी सौहार्द और भाईचारा के लिए मस्जिद में हनुमान चालीसा पढ़ने की अनुमति मांगी थी।

इजाजत मिलने के बाद मस्जिद में हनुमान चालीसा और गायत्री मंत्र का जाप किया गया। इस पूरे पूजा-पाठ का लाइव प्रसारण भी सोशल मीडिया पर किया गया। वीडियो वायरल होने के बाद मुस्लिम समाज में मौलाना अली हसन को लेकर नाराजगी थी। इसके बाद मौलाना को मस्जिद से निकाल दिया। वहीं भाजपा नेता मनुपाल बंसल का कहना है कि मौलाना ने तो भाईचारे का संदेश दिया था।

मौलाना ने बंसल के खिलाफ कार्रवाई से किया था इंकार

इससे पहले मस्जिद में हनुमान चालीसा पढ़ने के मामले में मौलाना अली हसन ने मनुपाल बंसल के खिलाफ कार्रवाई से मना कर दिया था। पुलिस को दिए गए बयान में मौलाना ने बंसल पर कार्रवाई की बात से इनकार किया। मौलाना का कहना है कि युवक गांव का ही रहने वाला है और परिचित हैं इसलिए वह कार्रवाई नहीं चाहते हैं।

मथुरा के नंदबाबा मंदिर में पढ़ी गई थी नमाज

मथुरा स्थित नंदगांव के प्रसिद्ध नंदबाबा मंदिर में नमाज पढ़ने का मामला सामने आया है। इसके फोटो वायरल होने के बाद मंदिर प्रशासन ने चार लोगों पर केस दर्ज कराया है। मंदिर को गंगाजल से भी धोया गया। घटना 29 अक्टूबर की बताई जा रही है। कोरोना की वजह से मंदिर में भीड़ कम थी। शुरुआती पूछताछ में पुलिस को पता चला है कि मंदिर में नमाज पढ़ने वाले दिल्ली की खुदाई खिदमतगार संस्था के लोग हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *