कोई अंबेडकर की मूर्ति तोड़ता है, तो कोई पोस्टर फाड़ता है, लेकिन इस प्रेमी जोड़े ने कर दिया कमाल

img

www.upkiran.org

यूपी किरण ब्यूरो

नई दिल्ली।।  कोई कोर्ट मैरिज करता है तो कोई मंदिर में शादी करता है। कोई बाबा साहब का पोस्टर फाड़ता है, तो कहीं बाबा साहब का विरोध होता है। लेकिन इस प्रेमी जोड़ी से सभी को प्रेरणा लेनी चाहिए। हमारे समाज में बहुत से ऐसे प्रेमी जोड़े देखें होंगे जो अपने परिवार वालो के खिलाफ जाकर शादी करते है।

एमपी का एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है जहां एक प्रेमी ने अपनी प्रेमिका से बाबा साहब भीम राव अंबेडकर की मूर्ति को साक्षी मानकर विवाह किया।

एक युवा जोड़े ने शानदार मिसाल पेश करते हुए संविधान के रचयिता और दलितों के मसीहा बाबा भीमराव अंबेडकर की मूर्ति को साक्षी मानते हुए विवाह रचाया है।

सीहोर से आई इस तस्वीर में लड़का और लड़की अपने हाथ में वरमाला लिए हुए अंबेडकर की मूर्ति के दोनों तरफ खड़े हुए हैं और संदेश दे रहे हैं कि वह संविधान के रचयिता को साक्षी मानकर शादी करने जा रहे हैं।

ऐसा करना हजारों युवाओं के लिए नई राह का सुझाव हो सकता है। जब वह प्रेम विवाह करने की कोशिश करते हैं तो उन्हीं प्रतिमाओं के सामने एक दूसरे को अपनाना पड़ता है जिनको पूजने वाले समाज में प्रेम विवाह को अस्वीकार किया जाता है।

फोटोः फाइल

इसे भी पढ़ें

http://upkiran.org/4895

http://upkiran.org/4904

http://upkiran.org/4898

Related News