चहल की पहल से भारत की बल्ले – बल्ले , पांडवों ने दिलाई जीत

img

स्पोर्ट्स ।। भारत ने तीसरे टी-20 मैच में इंग्लैंड को 75 रन से हराकर तीन मैचों की सीरीज 2-1 से जीत ली। बेंगलुरु में बुधवार को हुए इस मैच में टीम इंडिया ने मेहमान टीम को जीत के लिए 203 रन का टारगेट दिया था। जवाब में पूरी इंग्लिश टीम 127 रन पर आउट हो गई। एक वक्त इंग्लैंड के 119 रन पर 2 विकेट थे। इसके बाद 19 बॉल में उसने 8 रन पर 8 विकेट गंवा दिए।

इससे कम रन पर 8 विकेट गंवाने का रिकॉर्ड न्यूजीलैंड के नाम है। कीवी ने 1946 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट में 5 रन बनाने में 8 विकेट गंवाए थे।आखिरी मैच में टीम इंडिया की जीत के 5 हीरो रहे। इनकी वजह से भारत ये मैच और सीरीज अपने नाम कर सका।

इन पांच प्लेयर्स ने दिलाई जीत…

– युवराज सिंह: 10 बॉल में 27 रन।
– जसप्रीत बुमराह: तीन विकेट लिए।
– सुरेश रैना: 7 साल और 37 पारी के बाद फिफ्टी।
– एमएस धोनी: 10 साल, 76 मैच में पहली फिफ्टी।
– युजवेंद्र चहल: 10 साल में पहली बार भारतीय बॉलर ने एक मैच में 6 विकेट लिए हैं।

मैच का रोमांच :

– मैच में टॉस हारकर पहले बैटिंग करते हुए भारत की टीम ने 20 ओवरों में 6 विकेट पर 202 रन बनाए।
– भारत का पहला विकेट जल्दी गिरने के बाद रैना और धोनी ने मैच में शानदार फिफ्टी लगाई।
– जवाब में टारगेट का पीछा करने उतरी इंग्लैंड का पहला विकेट गिरने के बाद जेसन रॉय और जो रूट ने टीम को संभाला।
– इस जोड़ी को सातवें ओवर में अमित मिश्रा ने तोड़ा। उन्होंने रॉय को आउट कर दिया, यहीं से मैच पलटने लगा।
– इसके बाद फिर मोर्गन और रूट ने मिलकर शानदार बैटिंग की। दोनों ने मिलकर 64 रन जोड़े।
– लेकिन 14वें ओवर में 119 के स्कोर पर मोर्गन के आउट होते ही इंग्लैंड की इनिंग बिखर गई।
– इसके बाद विकेटों की झड़ी लग गई। इंग्लैंड के आखिरी 8 बैट्समैन केवल 8 रन के अंदर आउट हुए। 5 बैट्समैन तो 0 के स्कोर पर आउट हुए।
– इंटरनेशनल क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट की हिस्ट्री में ये आखिरी 8 बैट्समैन की दूसरी सबसे घटिया परफॉर्मेंस है।

Related News