पहली बार भैंस पर दर्ज हुआ मुकदमा, भेजी जायेगी जेल

img

www.upkiran.org

यूपी किरण ब्यूरो

उत्तर प्रदेश।। कुछ साल पहले उत्तर प्रदेश के तत्कालीन मंत्री आजम खान की भैंस चोरी होने पर राज्य का पुलिस महकमा उसकी तलाश में जुट गया था। एक बार फिर उत्तर प्रदेश भैंस को लेकर सुर्खियों में है।

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले की पुलिस ने भैंस पर मुकदमा कर उसे गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार हुई भैंस पर सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने का आरोप है। भैंस पर मुकदमा की बात सामने आने पर सभी लोग अचंभित हैं।

जिले के पलिया के बलदेव बैदिक इंटर कॉलेज में एक भैंस दीवार फांद कर अंदर घुस आई। दीवार के अंदर वन विभाग की ओर से पौधारोपण किया गया था। भैंस ने कई पौधों को निवाला बना लिया और ऐसा देखकर कॉलेज प्रशासन ने 100 नंबर पर कॉल कर पुलिस को बुला लिया। पुलिस भैंस को पकड़कर थाने ले गई और उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया।

मालूम हो कि अखिलेश यादव की सरकार में तत्कालीन नगर विकास मंत्री मोहम्मद आजम खां की भैंस चोरी हो गई थी। 31 जनवरी 2014 को रामपुर में पसियापुरा स्थित डेयरी फार्म से नगर विकास मंत्री आजम खां की सात भैंसें चोरी हो गई थीं।

महज 24 घंटे बाद एक फरवरी की रात को पुलिस ने भैंसें बरामद कर ली थीं। पुलिस इस मामले में कई लोगों को जेल भेज चुकी है। भैंस चोरी की इसी घटना में छुन्नन पुत्र मुन्नन निवासी खाईखेड़ा थाना मूंढापांडे भी वांटेड था।

मूंढापांडे पुलिस ने छुन्नन को उसके दो साथियों बाबू उर्फ आलम निवासी खाईखेड़ा और मुजम्मिल मंसूरपुर थाना पाकबड़ा के साथ गिरफ्तार कर लिया, जबकि उसके दो साथी शाबू निवासी खाईखेड़ा और दिलशाद निवासी डींगरपुर फरार हो गए। छुन्नन ने जब पूछताछ में मंत्री की भैंस चोरी करने की बात कबूली तो पुलिस चहक उठी।

फोटोः फाइल

Related News