मंगलवार को SC द्वारा असंवैधानिक करार दिए जाने बाद बुधवार को यूपी में पहला तीन तलाक !

img

www.upkiran.org

यूपी किरण ब्यूरो

मेरठ।। तीन तलाक को सुप्रीम कोर्ट द्वारा खत्म किये जाने के ऐतिहासिक फैसले को अभी 24 घंटे भी नहीं बीते थे कि तलाक का एक नया मामला सामने आ गया। यूपी के मेरठ की इस घटना में सुप्रीम कोर्ट के फैसले को धता बताते हुए एक दहेज लालची ने भरी पंचायत के सामने अपनी पत्नी को तलाक दे दिया। जबकि मंगलवार को ही देश की सर्वोच्च न्यायालय ने एक साथ तीन तलाक को असंवैधानिक बताते हुए 6 महीने का प्रतिबंध लगा दिया था।

पीड़िता के 3 बच्चे हैं और वह पिछले 6 साल से दहेज के लिए प्रताड़ित की जा रही थी। पीड़िता ने बुधवार को पुलिस से न्याय की गुहार लगाई है।
मामला मेरठ के थाना-सरधना क्षेत्र के कस्बे का है, जहां 6 साल पहले अर्शी निदा का निकाह बड़े अरमानों के साथ मोहल्ले के ही सिराज खान के साथ हुआ।

जानकारी के मुताबिक शादी के बाद से ही सिराज खान अर्शी को दहेज के लिए प्रताड़ित किया करता था, सिराज के परिजन उससे कार की लगातार डिमांड कर रहे थे।

शादी के इन 6 सालोँ में अर्शी ने 3 बच्चों को जन्म दिया। सिराज खान ने तीसरी बेटी के जन्म के बाद से ही कार की डिमांड कर दी।हालाँकि अर्शी निदा के परिजनों ने अपने दामाद को समझाने की काफी कोशिश की , पूरे मोहल्ले के सामने ही सिराज खान ने अपनी पत्नी को एक साथ तीन बार तलाक बोलकर अर्शी निदा से खुद को अलग कर दिया।

पीड़िता के परिजनों का आरोप है कि सुप्रीम कोर्ट के निर्णय की दुहाई भी दी, लेकिन सिराज ने सरकार और सुप्रीम कोर्ट के लिए अपशब्दों का इस्तेमाल करते हुए तलाक देने के लिए अड़ा रहा। अर्शी निदा ने दहेज उत्पीड़न के बाबत पुलिस को तहरीर देकर न्याय की गुहार लगाई है।

पीड़िता के परिजन जो पहले से ही आर्थिक तंगी से जूझ रहे हैं ,उनके सामने अपनी तलाकशुदा बेटी और उसके तीन बच्चों का लालन-पालन करने को लेकर संकट खड़ा हो गया है। कोर्ट के आदेश की दुहाई देते हुएपीड़िता के परिजनों ने पुलिस से अपनी बेटी अर्शी निदा के निकाह को बचाने की अपील की है।

https://youtu.be/fKalHlOu-WI

पुलिस मामले की जांच-पड़ताल में जुटी है लेकिन पुलिस के आला अधिकारी इस प्रकरण में कुछ भी कहने से बच रहे हैं।

फोटोः फाइल

इसे भी पढ़ें

http://upkiran.org/7449

Related News