मंडी निदेशक रहे अनूप यादव ने कर्मचारियों की भर्ती में किया खेल, हुई जांच तो जाएंगे जेल

img

www.upkiran.org

यूपी किरण ब्यूरो

लखनऊ।। मंडी परिषद् का एक बड़ा ही दिलचस्प मामला सामने आया है। यहां विभागीय दक्षता परीक्षा में फेल चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों को बाबू बना दिया गया।

इस कारनामे को अंजाम दिया है मंडी परिषद् के पूर्व निदेशक अनूप यादव ने, एक अन्य मामले में अनूप यादव ने अपने कैंप में तैनात सुजीत कुमार सिंह नाम के एक बाबू को लाभ देने के लिए स्टेनो बना दिया। जबकि ये बाबू भी विभागीय परीक्षा में फेल हो गया था।

आपको बताते चलें की मंडी परिषद् में चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों को बाबू बनाने के लिए एक विभागीय दक्षता परीक्षा का आयोजन किया गया था। जिसमें 64 लोगो की परीक्षा ली गई थी।

सूत्रों की माने तो चपरासी से बाबू बने इन कर्मचारियों की नियुक्ति में भ्रष्टाचार का जमकर बोलबाला रहा है।

जिसमें 64 में से मात्र 7 लोग ही परीक्षा में पास हुए फिर भी तत्कालीन निदेशक अनूप यादव ने नियम-कानून को ताक पर रखकर परीक्षा में फेल हुए सभी चपरासियों को बाबू बना दिया। देखिये परीक्षा में फेल कर्मचारियों का रिजल्ट-

फोटोः फाइल

इसे भी पढ़ें

http://upkiran.org/5305

Related News