मोदी के मंत्री ही नहीं सुन रहे उनकी बात, तो आम जनता पर कैसे पड़े असर

img

www.upkiran.org

यूपी किरण ब्यूरो

नई दिल्ली।। पीएम मोदी के स्वच्छता अभियान की हवा उनके मंत्री ही निकाल रहे हैं। ऐसे में सबसे बड़ा सवाल ये है कि जनता की दूर जब मोदी के मंत्री ही नहीं, अपनी सरकार की बात मान रहे है, तो जनता कैसे सुनेगी।

इस फोटो को देखकर लगता है कि देश ने मोदी के प्रधानमत्री बनते ही एक कदम स्वछता की ओर दल-बल समेत बढ़ा दिया है। लेकिन मंत्री जी ‘एक कदम स्वच्छता’ की ओर वाले नारे के ‘एक कदम’ से इतने प्रभावित हुए कि मात्र एक कदम ही चलकर रुक गए। ये केंद्रीय कृषि मंत्री माननीय राधामोहन सिंह जी हैं।

दीवार के रंग को देखकर लगता है कि मंत्री जी से पहले वहां किसी ने पेशाब नही किया था। क्योंकि वो मंत्री हैं इसलिए उदघाटन में विश्वास रखना उनका परम कर्त्तव्य था। जिसे उन्होंने पूरा करके स्वच्छ भारत अभियान की शव यात्रा शुरू कर दी।

राजस्थान में खुलें में शौच करने वाले की फोटो खींचने का आदेश दिया गया था। फोटो खींचने वाला इस बात से काफी प्रभावित दिखा। अब ऐसे किसी लघुशंका करते हुए व्यक्ति को तो देखने में शर्म आती है लेकिन कैमरे में क्या शरमाना।

इस तस्वीर को देखकर आप ये भी अंदाजा लगा सकते हैं कि जब मंत्री को खुले में करना पड़ा रहा है तो इस देश में सार्वजिनक शौचालयों की संख्या कितनी होगी और ये भी कि कथनी और करनी में कितना अंतर होता है।

जब स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत हुई थी तो मंत्री ने भी जरुर सड़क पर झाड़ू लगाई होगी। भले केवल फोटो खिचाने के लिए ही सही। लेकिन वहां उन्होंने फोटो खिचवाई थी और यहाँ इनकी फोटो खींच ली गयी है।

इस फोटो सामने आते ही लोगों ने सोशल मीडिया पर मंत्री जी का मजाक बनाना शुरू कर दिया।

फोटोः फाइल

इसे भी पढ़ें

http://upkiran.org/4616

http://upkiran.org/4600

Related News