एक घर से उठी 5 अर्थियां, मचा कोहराम और रो पड़ा कस्बा

बीकानेर जिले के श्रीडूंगरगढ़ तहसील का आडसर बास कस्बा देर रात्रि एक ही घर से पांच अर्थियां उठने के बाद रो पड़ा। गांव के लोगों ने गमगीन माहौल में पांच जनों को अंतिम विदाई दी।

बीकानेर। बीकानेर जिले के श्रीडूंगरगढ़ तहसील का आडसर बास कस्बा देर रात्रि एक ही घर से पांच अर्थियां उठने के बाद रो पड़ा। गांव के लोगों ने गमगीन माहौल में पांच जनों को अंतिम विदाई दी। इस दौरान चहुंओर कोहराम मच गया। एक साथ जली पांच चिताओं को देख कर लोग गमगीन हो गए और एक-दूसरे से लिपट कर खूब रोए।
dead-body-death

इनकी हुई मौत

जानकारी के अनुसार मंगलवार दोपहर कैम्पर और कार की हुई सड़क हादसे में भिड़ंत के दौरान 45 वर्षीया मैना देवी पत्नी लालचंद सैनी, 40 वर्षीया गायत्री देवी पत्नी हरिप्रसाद सैनी व 27 वर्षीय अतुल पुत्र हरिप्रसाद सैनी की मौत हो गई। वहीं सविता पत्नी किशोर सैनी की ट्रोमा सेन्टर में दौराने इलाज सांसें थम गई। इन घटनाओं को सुनकर पहले से ही बीमार और पीबीएम अस्पताल में भर्ती लालचंद को जैसे ही पता चला तो वे सहन नहीं कर पाए और उनकी भी मौत हो गयी।
 लालचंद पहले से ही भर्ती थे और उनके परिवार के सदस्य लॉकडाउन खुलने के बाद अस्पताल में उनसे कुशलक्षेम पूछने के लिए ही श्रीडूंगरगढ़ से बीकानेर के लिए रवाना हुए थे और सड़क हादसा हो गया। इस तरह पांच जनों की मौत एक ही परिवार में हो गयी। सभी के शव रात को ही घर पहुंचे और देर रात्रि होने से पहले पांचों का अंतिम संस्कार कर दिया गया। इस घटना से गमगीन बुधवार को सुबह बाजार भी बंद रहे।

सीएम गहलोत ने जताया दु:ख

राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट करते हुए इस घटना पर शोक जताया है। गहलोत की ओर से ट्वीट किया गया कि बीकानेर में नापासर क्षेत्र में नेशनल हाईवे 11 पर हुए सड़क हादसे में एक ही परिवार के पांच लोगों की मृत्यु अत्यंत दुखद है। मेरी संवेदनाएं शोकाकुल परिजनों के साथ हैं, ईश्वर उन्हें इस बेहद कठिन समय में सम्बल दें, दिवंगतों की आत्मा को शांति प्रदान करें। घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *