यूपी में गैंगरेप के बाद राहुल-प्रियंका ने सड़क पर उतर योगी के खिलाफ शुरू किया जंग-ए-एलान

उत्तर प्रदेश में लगातार गैंगरेप की घटनाएं बढ़ने से प्रदेश की सियासत भी गरमाती की जा रही है।

उत्तर प्रदेश 1 अक्टूबर यूपी किरण। उत्तर प्रदेश में लगातार गैंगरेप की घटनाएं बढ़ने से प्रदेश की सियासत भी गरमाती की जा रही है। यूपी की राजनीति में पांव जमाने की कोशिश में जुटे कांग्रेस पार्टी, बसपा और समाजवादी पार्टी को बैठे-बिठाए योगी सरकार को घेरने के लिए एक बेहद अहम मुद्दा हाथ लग गया है।

congress hathras

‘हाथरस युवती के साथ हुई गैंगरेप की घटना की चिता अभी शांत भी नहीं हुई थी कि आज सुबह जनपद बलरामपुर में एक और छात्रा के साथ गैंगरेप और मौत के बाद विपक्षी नेताओं ने जैसे ठान ली हो कि अब प्रदेश की भाजपा सरकार को इस मामले में छोड़ा नहीं जाएगा’।

‘आज कांग्रेस ने सड़क पर उतर कर योगी सरकार को सीधे चेतावनी दे डाली, दूसरी ओर उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मायावती और अखिलेश यादव ने सोशल मीडिया पर पिछले दिनों से सीएम योगी को घेरने के लिए मोर्चा संभाल रखा है’।

 

बात करते हैं कांग्रेस की सड़क की राजनीति की। युवती के साथ गैंगरेप की घटना के बाद कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, महासचिव प्रियंका गांधी ने दो दिन पहले एलान किया था कि वह मृतक युवती के परिवारीजन से मिलने हाथरस जाएंगे।

गुरुवार सुबह राजधानी दिल्ली से राहुल गांधी और प्रियंका गांधी जब अपने वाहनों से हाथरस के लिए आ रहे थे उसी दौरान यमुना एक्सप्रेस वे पर उत्तर प्रदेश पुलिस ने उन्हें जाने नहीं दिया। जिससे गुस्साए राहुल और प्रियंका ने सड़क से ही योगी को ललकारा।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने इस दौरान यूपी सरकार पर निशाना साधा। राहुल गांधी ने कहा कि मैं हाथरस के पीड़ित परिवार से मिलने जा रहा हूं, ये मुझे रोक नहीं पाएंगे। राहुल प्रियंका को गाड़ी से आगे नहीं जाने दिया तो दोनों पैदल ही चल दिए। दोनों नेता सैकड़ों कार्यकर्ताओं के साथ उत्तर प्रदेश की योगी सरकार को घेरने के लिए सड़क की सियासत शुरू कर दी।

पुलिस हिरासत में लिए जाने पर राहुल-प्रियंका ने सड़क से ही योगी सरकार को दी चेतावनी-

उत्तर प्रदेश पुलिस के राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को हिरासत में लिए जाने पर दोनों ने योगी सरकार को सड़क से ही ललकारा और चेतावनी दी । राहुल और प्रियंका को हिरासत में ले जाने पर गुस्साए सैकड़ों कांग्रेस कार्यकर्ता योगी सरकार के खिलाफ सड़क पर ही विरोध प्रदर्शन करने लगे । राहुल और प्रियंका को एक्सप्रेस पर ही एक गेस्ट हाउस में कुछ देर तक अरेस्ट करके पुलिस ने दोनों को वापस दिल्ली लौटा दिया।

इस दौरान कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रदेश सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा का नारा ‘बेटी बचाओ’ नहीं, ‘तथ्य छुपाओ, सत्ता बचाओ’ है। राहुल गांधी ने कहा कि ‘यूपी के जंगलराज में बेटियों पर जुल्म और सरकार की सीनाजोरी जारी है।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने कहा कि योगी सरकार ने कभी जीते-जी सम्मान नहीं दिया और अंतिम संस्कार की गरिमा भी छीन ली। प्रियंका गांधी ने कहा कि विपक्ष का काम सरकार को जगाना है।

हाथरस जाने से हमें कोई नहीं रोक सकता और पीड़ित के परिजनों से मिलेंगे। प्रियंका ने कहा कि महिलाओं की सुरक्षा की जिम्मेदारी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लेनी होगी, अपराधियों पर सख्त कार्रवाई करनी पड़ेगी।

‘प्रियंका ने कहा कि महिला सुरक्षा को लेकर प्रदेश में हालात नहीं बदल रहे हैं। भाजपा सरकार अपने आप को हिंदू धर्म का रक्षक बताती है और एक हिंदू पिता को उसकी बेटी के अंतिम संस्कार से भी रोका गया’।

प्रियंका ने कहा कि हाथरस जैसी वीभत्स घटना बलरामपुर में घटी, लड़की का बलात्कार कर पैर और कमर तोड़ दी गई। आजमगढ़, बागपत, बुलंदशहर में बच्चियों से दरिंदगी हुई। प्रियंका गांधी ने कहा कि मार्केटिंग, भाषणों से कानून व्यवस्था नहीं चलती, ये मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की जवाबदेही का वक्त है, प्रदेश ही नहीं पूरे देश की जनता को जवाब चाहिए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *