इस जगह पर एक और बाघ की हुई मौत, कुल संख्या हुई 40, प्रशासन की बढ़ी मुश्किल

सोमवार को एक और बाघ के मरने की सूचना मिली, जिससे राज्य में इस साल अब तक मरने वालों की संख्या 40 हो गई है, जो पूरे देश में सबसे अधिक है

मध्य प्रदेश में सोमवार को एक और बाघ के मरने की सूचना मिली, जिससे राज्य में इस साल अब तक मरने वालों की संख्या 40 हो गई है, जो पूरे देश में सबसे अधिक है।

tiger

आपको बता दें कि ताजा घटना में, उमरिया जिले में बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व (बीटीआर) के बफर जोन से बचाए जाने के दो दिन बाद एक 10 वर्षीय बाघिन की मौत की सूचना मिली थी।वन अधिकारी के अनुसार, टी-66 के रूप में पहचानी गई मृत बाघिन को पिछले एक महीने से रिजर्व के खितोली और पनपथा बफर जोन में देखा गया था।

वहीँ अधिकारी ने मीडिया को बताया कि एक वन दल लगातार मांसाहारी की निगरानी कर रहा था और ऐसा लग रहा था कि वह कुछ गंभीर चोटों के कारण अपने शिकार का शिकार करने में असमर्थ है। अधिकारी ने कहा कि बाघ को 26 नवंबर को खितोली क्षेत्र से बचाया गया था और उसे बहेड़ा बाड़े में लाया गया था, जहां नानाजी देशमुख पशु चिकित्सा विज्ञान विश्वविद्यालय (जबलपुर) के डॉक्टरों की एक टीम बाघिन का इलाज कर रही थी।

वन अधिकारी ने सोमवार को एक बयान में कहा, “बाघिन घायल और भूखी पाई गई थी। पशु चिकित्सा विशेषज्ञों की सलाह के अनुसार खिलाने का प्रयास किया गया, लेकिन बाघिन खाना नहीं खा पाई और रविवार को उसकी मौत हो गई।”बाद में, एक शव परीक्षण किया गया और राष्ट्रीय बाघ संरक्षण प्राधिकरण के निर्देशों के अनुसार शवों का निपटारा किया गया.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close