Astrology : बड़े काम कि होती हैं तुलसी की सूखी पत्तियां, बदल देती हैं भाग्य, बस करना होगा ये उपाय

हिंदूधर्म में तुलसी का पौधा बेहद पवित्र माना गया है। इस पौधे में बहुत सारे औषधीय गुण होने की वजह से इसे औषधि का पौधा भी कहा जाता है।

हिंदूधर्म में तुलसी का पौधा बेहद पवित्र माना गया है। इस पौधे में बहुत सारे औषधीय गुण होने की वजह से इसे औषधि का पौधा भी कहा जाता है। कहते हैं कि इस पौधे के होने से सकारात्मक ऊर्जा बनी रहती है। साथ ही इसमें विटामिन और खनिज भी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। तुलसी का पौधा ऑक्सीजन का उत्सर्जन करने में कारगर होता है। इसकी दो प्रजातियां होती हैं, श्वेत और कृष्ण। मान्यता है कि तुलसी के पत्ते का ज्योतिषीय उपाय करने से मां लक्ष्मी प्रसन्न होती है और भक्तों पर अपनी कृपा बरसाती हैं।

Tulsi's dry leaves

तुलसी के पौधे का लाभ

तुलसी के पौधे के सभी हिस्सों का अपना अलग-अलग महत्व है। जैसे कि शाखा, बीज, पत्ती, जड़ सभी के अपने अपने फायदे हैं। सर्दी, खांसी में, मुंह की दुर्गंध दूर करने में, इम्युनिटी बढ़ाने में, तनाव से मुक्ति दिलाने में, वजन कम करने में, रतौंधी में, सांप के काटने पर, हृदय रोग में, झड़ते बालों आदि के लिए तुलसी का पौधा रामबाण की तरह काम करता है। मान्यता है कि जिस घर में तुलसी का पौधा रहता है वहां पर हमेशा खुशहाली सुख शांति और समृद्धि का वास रहता है।

तुलसी की सूखी पत्तियों का महत्व

  • तुलसी का महत्व अमृत के समान बताया गया है। तुलसी की हरी पत्तियों के साथ ही सूखी पत्तियों का भी बहुत अधिक महत्व है। कहते हैं कि तुलसी के सूखे पत्ते हमारी किस्मत चमका सकते हैं।
  • ज्योतिषी बताते हैं कि जो बच्चे पढ़ाई में कमजोर होते हैं वे तुलसी की सूखी पत्ती को अपनी पुस्तक के बीच में रखते हैं। ऐसा करने से उनके अंदर आत्मविश्वास की भावना जाग्रत होती है और सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह बढ़ता है और पढ़ाई में मन लगने लगता है।
  • कहते हैं कि तुलसी की सूखी पत्तियों को लाल कपड़े से बांधकर अपने घर के बक्से, अलमारी या तिजोरी में रखने पर लक्ष्मी की कृपा बनी रहती है और घर में धन धान्य का भंडार भरा रहता है।
  • तुलसी के सूखे पत्तों को पानी में डालकर अगर श्री कृष्ण भगवान के बाल स्वरूप को स्नान कराया जाता है तो इससे भी चमत्कारी लाभ मिलता है क्योंकि तुलसी को मां लक्ष्मी का ही स्वरूप माना गया है।
  • तुलसी के सूखी पत्तियों को पानी में डालकर और गंगाजल मिलाकर पूरे घर में छिड़काव करने से घर में मौजूद निगेटिन एनर्जी नष्ट हो जाती है और सकारात्मक ऊर्जा का संचार होने लगता है।
  • तुलसी की सूखी पत्तियों को पानी में डालकर स्नान करने से शरीर शुद्ध होता है और पॉजिटिविटी आती है।