CAA: अलीगढ में इस वजह से 70 महिलाओं पर FIR दर्ज, शहर में धारा 144 लागू

नागरिकता संशोधन कानून को लेकर देश भर में विरोध प्रदर्शन जारी है, जिसके चलते सरकार को कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है. बता दें कि इस कानून के खिलाफ लोग सड़को पर उतर कर विरोध प्रदर्शन कर रहे है, वहीँ इन प्रदर्शनो में महिलाएं मुख्य रूप से भाग ले रही है. बता दें कि इस प्रदर्शन की आग दिल्ली के शाहीन बाग इलाके होते हुए निकली है, जहाँ पिछले एक महीने से महिलाएं कानून के खिलाफ सड़कों पर हैं. जिसके बाद इस प्रदर्शन के तर्ज पर लोग देश कई शहरो में सड़क पर उतर गए हैं


आपको बता दें कि अब उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में भी महिलाएं सड़कों पर दिखाई दे रही हैं. वहीँ शनिवार को अलीगढ़ में 60-70 अज्ञात महिलाओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है. इस बाबत जानकरी देते हुए अलीगढ़ सिविल लाइंस के सर्कल अधिकारी (सीओ) अनिल सामनिया ने एफआईआर के बारे में विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि यहां कुछ महिलाएं, धारा 144 लगे होने के बावजूद प्रदर्शन करने की कोशिश कर रही थीं.

जिसके बाद इन सभी महिलाओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर लिया गया है. ज्ञात हो कि नागरिकता कानून के खिलाफ दिल्ली का शाहीन बाग अन्य शहरों के लिए एक प्रतीक बन गया है. 30 दिन से ज्यादा समय बीत गए लेकिन लोग वहां अभी तक धरने पर बैठे हैं. प्रदर्शन में सबसे आगे महिलाएं हैं और साथ में बच्चों को भी धरनास्थल में शामिल किया जाता है. वहीँ शाहीन बाग़ के तर्ज पर देश के कई कोने पर लोग प्रदर्शन कर रहें है.

वहीं हैदराबाद में लोग हाथों में तिरंगा लेकर सड़को पर विरोध प्रदर्शन के लिए जमा हो रहे हैं. तिरंगे की मांग इतनी ज्यादा बढ़ गई है कि उसकी कीमत दोगुनी कर दी गई है. तो मुंबई में जोगेश्‍वरी और अग्रीपाड़ा जैसे कई हिस्सों में इस कानून के खिलाफ लोग विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. इसके अलावा यूपी के प्रयागराज में रोशन बाग स्थित मंसूर अली पार्क में पिछले कई दिनों से महिला प्रदर्शनकारी विरोध में डटे हैं

सावरकर का विरोध करने वालों को लेकर शिवसेना ने किया बड़ा ऐलान, कहा- भेजा जाएं॰॰॰

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *