Chandra Grahan 2022: इस डेट को लगेगा चंद्रग्रहण, क्या भारत में दिखेगा, सूतक काल मान्य होगा या नहीं?

ज्योतिष शास्त्र में बताया गया है कि साल 2022 का पहला चंद्र ग्रहण 16 मई, दिन सोमवार को लगने जा रहा है। हिंदू पंचांग के अनुसार, 16 मई को...

ज्योतिष शास्त्र में बताया गया है कि साल 2022 का पहला चंद्र ग्रहण 16 मई, दिन सोमवार को लगने जा रहा है। हिंदू पंचांग के अनुसार, 16 मई को ही वैशाख माह की पूर्णिमा तिथि है। बौद्ध धर्म से सम्बंधित ऐतिहासिक ग्रंथों में कहा गया है कि वैशाख माह की पूर्णिमा तिथि को बौद्ध धर्म के संस्थापक महात्मा बुद्ध का जन्म हुआ था इसलिए इस तिथि को बुद्ध पूर्णिमा के नाम से भी जाना जाता है। अर्थात वैशाख पूर्णिमा, बुद्ध पूर्णिमा और साल का पहला चंद्र ग्रहण तीनों एक ही दिन पड़ेंगे।

Chandra Grahan 2022

दूर करें सारा संशय

ज्योतिष शास्त्र की गणना पर गौर करें तो ये चंद्र ग्रहण भारत में नहीं दिखाई देगा इसलिए इसका सूतक काल भारत में मान्य नहीं होगा। धार्मिक मान्यता है कि किसी भी ग्रहण का सूतक काल वहीं मान्य होता है जहां (जिस देश में) ग्रहण दिखाई देता है। ज्योतिषी बता रहे हैं कि ये चंद्रग्रहण पूर्ण चंद्रग्रहण की प्रकृति का होगा। साल का पहला चंद्रग्रहण दक्षिण-पश्चिमी यूरोप, एशिया, अफ्रीका, उत्तरी अमेरिका, दक्षिण अमेरिका, प्रशांत महासागर, हिंद महासागर में देखा जा सकेगा।

कब लगेगा पहला चंद्र ग्रहण 2022?

साल 2022 का पहला चन्द्र ग्रहण आने वाली 16 मई को लगेगा। भारतीय समय के अनुसार यह चंद्र ग्रहण 16 मई की सुबह 08 बजकर 59 मिनट से सुबह 10 बजकर 23 मिनट रहेगा। यह चंद्रग्रहण भारत में नहीं देखा जा सकेगा।

चंद्र ग्रहण का असर

  • हालांकि ये चंद्रग्रहण भारत में नहीं दिखाई देगा और इसका कोई ख़ास प्रभाव भारत पर नही पड़ेगा, फिर भी बार्ट के लोगों को चंद्रग्रहण के दौरान कुछ सावधानियां जरूर बरतनी चाहिए।
  • जैसे कि चंद्रग्रहण खत्म होने के बाद गंगा या किसी पवित्र नदी में स्नान करके दान देना।
  • अगर गंगा स्नान संभव न हो तो घर पर ही नहाते समय पानी में 2-4 बूंद गंगा जल डाल देना।
  • ग्रहण के समय किसी भी नुकीली चाजों का इस्तेमाल नहीं करना।
  • इसके साथ ही गर्भवती महिलाओं को कोई सिलाई –बुनाई नहीं करनी चाहिए और नहीं किसी धारदार चीज का इस्तेमाल करना चाहिए।