पंजाब की उम्मीदों पर चेन्नई फेर सकती है पानी, कुछ ऐसी हो सकती है दोनों की प्लेइंग XI

चेन्नई पहले ही प्लेऑफ रेस से पहले ही बाहर हो चुकी है, लेकिन उसने अपने पिछले दो मैचों में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर और कोलकाता नाइट राइडर्स को मात दे उनका गणित बिगाड़ दिया है। पंजाब को प्लेऑफ में जाने के लिए चेन्नई से सावधान रहना होगा।

अबू धाबी। चेन्नई सुपर किंग्स इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 13वें सीजन में आज यहां शेख जाएद स्टेडियम में अपना आखिरी मैच खेलेगी। तीन बार की चैंपियन का सामना किंग्स इलेवन पंजाब से होगा।

Punjab vs Chennai

चेन्नई से सावधान रहना होगा

चेन्नई पहले ही प्लेऑफ रेस से पहले ही बाहर हो चुकी है, लेकिन उसने अपने पिछले दो मैचों में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर और कोलकाता नाइट राइडर्स को मात दे उनका गणित बिगाड़ दिया है। पंजाब को प्लेऑफ में जाने के लिए चेन्नई से सावधान रहना होगा।

निश्चित तौर पर पंजाब के पास जीत ही एक विकल्प है, लेकिन उसे साथ ही कोशिश बेहतर नेट रन रेट के साथ जीतने की करनी होगी तभी उसकी प्लेऑफ की दावेदारी मजबूत होगी।

इस समय पंजाब 13 मैचों में से छह जीत और सात हार के साथ 12 अंक लेकर चौथे स्थान पर है। उसे शुक्रवार को राजस्थान रॉयल्स ने मात दी थी और अब वह चेन्नई के खिलाफ मैच जीतती भी है तो 14 अंक तक ही पहुंच पाएगी। ऐसे में नेट रन रेट काफी मायने रखेगा क्योंकि बाकी की टीमें भी 14 अंकों के साथ लीग चरण के अंत का रूख कर सकती हैं।

राजस्थान के खिलाफ मिली हार के बाद यह लगभग तय है कि पंजाब बेहतर नेट रन रेट के बिना प्लेऑफ के लिए क्वालीफाई शायद ही कर पाए। इसलिए पंजाब के लिए जरूरी है वह चेन्नई के खिलाफ बड़ी जीत हासिल करे।

ऐसा मुमकिन क्योंकि क्रिस गेल अपने तूफानी अंदाज में लौट आए हैं। राजस्थान के खिलाफ भी उन्होंने 99 रनों की पारी खेली थी। इससे पहले भी वह अपनी फॉर्म दिखा चुके हैं। कप्तान लोकेश राहुल तो शुरू से ही फॉर्म में हैं। मयंक अग्रवाल चेन्नई के खिलाफ खेलेंगे या नहीं यह कल ही साफ हो पाएगा।

इन सभी के अलावा निकोलस पूरन टीम के एक और ऐसे बल्लेबाज हैं जो टी-20 की जरूरत के हिसाब से रन बना सकते हैं।

गेंदबाजी में मोहम्मद शमी, अर्शदीप सिंह और क्रिस जोर्डन को अब और ज्यादा जिम्मेदारी से खेलना होगा। कोशिश करनी होगी कि वह चेन्नई के बल्लेबाजों को, खासकर ऊपरी क्रम को, जल्दी पवेलियन लौटाएं। रवि बिश्नोई और मुरुगन अश्विन की जोड़ी मध्य क्रम के साथ यह आसानी से करने का दम रखती है। पंजाब के लिए यह समय है जब उसके खिलाड़ी अतिरिक्त प्रयास कर बड़ी जीत सुनिश्चित करें।

चेन्नई का भी यह लीग चरण का आखिरी मैच है। तीन बार की विजेता का लक्ष्य आत्मसम्मान बचा, जीत के साथ लीग का अंत करने का होगा।

ऋतुराज गायकवाड़ ने पिछले दो मैचों में जिस तरह की बल्लेबाजी की है वह टीम को जीत दिलाने में सफल रही है। फाफ डु प्लेसिस पिछले मैच में नहीं खेले थे। शेन वाटसन की वापसी हुई थी। वाटसन एक या दो मौकों पर ही रन बना पाए हैं। अंतिम मैच में धोनी किस प्लेइंग-11 के साथ उतरेंगे यह देखना दिलचस्प होगा।

गेंदबाजी में दीपक चहर और शार्दूल ठाकुर का नाम तो पक्का है। सैम कुरैन का खेलना भी तय है। बाकी और कौन से खिलाड़ी आखिरी मैच में चेन्नई की जर्सी पहनते हैं यह मैच के दिन ही पता चलेगा।

टीमें (सम्भावित) :

चेन्नई सुपर किंग्स : महेंद्र सिंह धोनी (कप्तान), केदार जाधव, रवींद्र जडेजा, पीयूष चावला, कर्ण शर्मा, शेन वाटसन, शार्दूल ठाकुर, अंबाती रायडू, मुरली विजय, फाफ डु प्लेसिस, इमरान ताहिर, दीपक चहर, लुंगी एनगिडी, मिशेल सैंटनर, केएम. आसिफ, नारायण जगदीशन, मोनू कुमार, रितुराज गायकवाड़, आर. साई किशोर, जोश हेजलवुड, सैम कुरैन।

किंग्स इलेवन पंजाब : लोकेश राहुल (कप्तान), मयंक अग्रवाल, करुण नायर, सरफराज खान, ग्लेन मैक्सवेल, निकोलस पूरन, कृष्णाप्पा गौतम, क्रिस जोर्डन, शेल्डन कॉटरेल, रवि बिश्नोई, मोहम्मद शमी, मुरुगन अश्विन, अर्शदीप सिंह, क्रिस गेल, मनदीप सिंह, हरडस विजोलेन, दीपक हुड्डा, हरप्रीत ब्ररार, मुजीब उर रहमान, दर्शन नालकंडे, जेम्स नीशाम, ईशान पोरेल, प्रभसिमरन सिंह, जगदीश सुचित, तेजिंदर सिंह।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *