CM योगी ने बदरीनाथ में किया यूपी वालों के लिए किया ये बड़ा काम, फिर किए दर्शन

बदरीनाथ में श्रद्धालुओं की सुविधाओं के लिए सीएम त्रिवेन्द्र ने किया एक करोड़ रु. देने का ऐलान

गोपेश्वर। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को बदरीनाथ में उत्तर प्रदेश के पर्यटक आवास गृह का भूमि पूजन एवं शिलान्यास किया। इससे पूर्व उन्होंने उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत के साथ भगवान बदरी विशाल के दर्शन एवं पूजा-अर्चना की। दोनों मुख्यमंत्रियों ने मंदिर के गर्भ गृह में भगवान विष्णु की अराधना की और दोनों राज्यवासियों व सभी देशवासियों की सुख-समृद्धि एवं मंगलमय जीवन की कामना की।
Yogi Adityanath visited Badrinath Dham
उत्तर प्रदेश के पर्यटक आवास गृह के भूमि पूजन एवं शिलान्यास के अवसर पर योगी आदित्यनाथ के साथ उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत भी मौजूद थे। इसके उपरान्त दोनों राज्यों के मुख्यमंत्री देश के अन्तिम गांव माणा एवं भीम पुल तथा सरस्वती पुल का भ्रमण भी किया। दोनों प्रदेशों के मुख्यमंत्री आईटीबीपी, सेना एवं बीआरओ के जवानों से मिले व उनका हौसला बढ़ाया। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र रावत ने बदरीनाथ में बर्फ के कारण यातायात एवं अन्य व्यवस्था सुचारू रखने के लिए जनपद चमोली को एक करोड़ रुपये देने की घोषणा की, ताकि श्रद्धालुओं को किसी भी प्रकार की असुविधा न हो।
बदरीनाथ में उत्तर प्रदेश के पर्यटक आवास गृह का शिलान्यास करते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आज मुझे कई वर्षों के बाद भगवान बदरी विशाल के दर्शन करने का सौभाग्य मिला है। उत्तराखंड के चारों धाम पर्यटन के विकास एवं श्रद्धालुओं की श्रद्धा व आस्था के सम्मान को ध्यान में रखते हुए आज की आवश्यकता के अनुरूप विकास की जिन नई ऊंचाइयों को छूते हुए दिखाई दे रहे हैं, वह अत्यंत सराहनीय एवं अभिनंदनीय है। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत के नेतृत्व में उत्तराखंड सरकार के इन सभी कार्यों की सराहना करते हुए उन्होंने कहा कि उत्तराखंड के विकास के लिए किये जा रहे सभी प्रयासों के लिए हृदय से उनका अभिनन्दन करता हूं।
योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश के बीच पिछले 18-20 वर्षों से बहुत से विवाद चले आ रहे थे। ये विवाद उत्तराखंड के नये राज्य बनने के बाद से ही चल रहे थे। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने अपनी रचनात्मक और सकारात्मक पहल से इन सभी समस्याओं का समाधान करने में सफलता प्राप्त की है। इसके परिणामस्वरूप ही हरिद्वार में अलकनन्दा होटल जो उत्तर प्रदेश पर्यटन निगम का था, जिस पर लम्बे समय से विवाद था, दोनों राज्यों की सरकारो ने आपसी सहमति से तय किया कि अलकनन्दा होटल उत्तराखंड सरकार को सौंपेगे और उत्तर प्रदेश सरकार उसी के बगल में एक नया भागीरथी पर्यटन आवास गृह बनायेगी। इस अतिथि गृह का निर्माण लगभग पूर्ण हो चुका है। हरिद्वार कुंभ से पहले इसे जनता को समर्पित किया जायेगा।

उत्तराखंड मेरी जन्म भूमि भी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तराखंड मेरी जन्म भूमि भी है। मैंने अपना बचपन उत्तराखंड में ही बिताया। पिछले तीन दिनों से यहां के तीर्थ स्थलों के दर्शन करने करने का सौभाग्य मिला। यहां पर नया सीजन प्रारम्भ होने पर पर्यटन आवास गृह का कार्य भी प्रारम्भ होगा। हमारा प्रयास है कि एक वर्ष के अन्दर यह कार्य पूर्ण कर लिया जायेगा। इस पावन धाम में अनेक संतों एवं योगियों ने अपनी साधना, योग एवं तप से इस पावन धरती को पवित्र किया है। योगराज सुन्दरनाथ जी की तपस्थली भी  बदरीनाथ में है। यहां पर योगराज सुन्दरनाथ जी गुफा भी है। उन्होंने इच्छा जताई कि उत्तराखंड सरकार उनकी गुफा का पुनरुद्धार करे तो बहुत अच्छा कार्य होगा।
मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि पिछले तीन दिनों से उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ केदारनाथ व बदरीनाथ के दर्शन करने का अवसर मिला। उत्तर प्रदेश विश्रामालय का भूमि पूजन एवं शिलान्यास हुआ। यह एक बड़ी उपलब्धि है। देशभर से श्रद्धालु एवं पर्यटक यहां आते हैं। इस पर्यटक आवास गृह बनने से उनके लिए एक और सुविधा बढ़ जायेगी। योगी के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश जैसा विशाल राज्य आज विकास के पथ पर तेजी से अग्रसर है। योगी के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश एक उत्तम प्रदेश बने, इसके लिए कामना करता हूं।
उल्लेखनीय है कि बदरीनाथ में उप्र के पर्यटक आवास गृह का शिलान्यास सोमवार को ही किया जाना तय था लेकिन बर्फबारी और मौसम खराब होने के कारण दोनों मुख्यमंत्री केदारनाथ में फंस गए। कल शाम को वे हेलीकॉप्टर से बमुश्किल गौचर ही पहुंच सके। वहां रात्रि विश्राम करने के बाद आज सुबह हेलीकॉप्टर से वे बदरीनाथ पहुंचे।
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत के बदरीनाथ के दर्शन के लिए आगमन पर देवस्थानम बोर्ड के अधिकारियों ने स्वागत किया।  इस अवसर पर शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक, उत्तर प्रदेश के भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव (गृह) अवनीश अवस्थी, चमोली की जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया, एसपी यशवंत सिंह चौहान आदि मौजूद थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *