भतीजे के मुंडन में रस्में निभाते नजर आये CM योगी, परिवार वालों के साथ फोटो भी खिंचवाई

लगभग 28 साल बाद अपने पैतृक गांव पंचूर पहुंचे योगी आदित्यनाथ ने रात्रि विश्राम के बाद बुधवार सुबह गांव की सैर से अपने दिन की शुरुआत

उत्तराखंड। लगभग 28 साल बाद अपने पैतृक गांव पंचूर पहुंचे योगी आदित्यनाथ ने रात्रि विश्राम के बाद बुधवार सुबह गांव की सैर से अपने दिन की शुरुआत की। वह अपने पैतृक घर के उसी कमरे में रूके, जिस कमरे में उनका बचपन बीता था। बताया जा रहा है कि तड़के चार बजे उठने के बाद मुख्यमंत्री योगी ने स्नान करने के बाद घर में ही पूजा की। इसके बाद सुबह छह बजे उन्हें चाय दी गई।

CM YOGI

चाय पीने के बाद गांव की सैर करने निकले योगी करीब सवा दो घंटे में वापस घर आये। इसके बाद उनकी चाय पर उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत सहित अन्य लोगों से विभिन्न मुद्दो पर बातचीत हुई। इस दौरान उनसे मिलने कि लिए उनके पुराने मित्र एवं बुजुर्गों के पहुंचने का सिलसिला भी शुरू हो गया। इन सबने साथ बैठकर पुराने दिनों की यादें भी साझा की। बता दें कि योगी आदित्यनाथ भतीजे के मुंडन में शिरकत करने अपने पैतृक गांव पहुंचे है।

इसके बाद लगभग दस बजे मुंडन की तैयारियां शुरू हो गई। भतीजे अंनत को हल्दी बान देने का सिलसिला शुरू हो गया। बताया जा रहा है कि सबसे पहले योगी आदित्यनाथ ने ही भतीजे अंनत को हल्दी लगाई। करीब 12 बजे तक मुंडन संस्कार संपन्न हो गया। मेहमानों के भोजन करने के बाद लगभग डेढ़ बजे योगी आदित्यनाथ ने अपने परिवार वालों के साथ कमरे में भोजन किया।

इसके बाद घर में ही उन्होंने जनता दरबार लगाया। जहां लोगों ने क्षेत्र की समस्याओं से उन्हें अवगत कराया। इस दौरान उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत, शिक्षामंत्री धन सिंह रावत, यमकेश्वर विधायक रेणू बिष्ट के साथ ज्येष्ठ ब्लॉक प्रमुख दिनेश भट्ट समेत तमाम स्थानीय लोग मौजूद रहे।