Covid 19 Research : अब एयरपोर्ट पर कोरोना मरीजों का पता लगाएंगे खोजी कुत्ते, जानें कहां किये गए हैं तैनात

एक अध्ययन में दावा किया गया है कि प्रशिक्षित खोजी कुत्ते एयरपोर्ट पर मौजूद यात्रियों के बीच कोविड-19 से संक्रमित व्यक्ति का...

लंदन। एक अध्ययन में दावा किया गया है कि प्रशिक्षित खोजी कुत्ते एयरपोर्ट पर मौजूद यात्रियों के बीच कोविड-19 से संक्रमित व्यक्ति का पता लगाने में सक्षम हैं। ये दावा बीएमजे ग्लोबल हेल्थ जर्नल में प्रकाशित किये गए एक शोध में किया गया है। रिसर्च में कहा गया है कि प्रशिक्षित खोजी कुत्ते, सार्स-सीओवी-2 से ग्रसित यात्रियों का सटीक ढंग से पता लगा सकते हैं। कोविड पॉजिटिव यात्रियों का पता लगाने का यह तरीका बेहद ख़ास है क्योंकि यह न सिर्फ संक्रमण की शुरुआती अवस्था में बीमारी का पता लगाने में महत्वपूर्ण है बल्कि महामारी की रोकथाम में भी प्रभावी है।

sniffer dogs detect covid

इस दौरान एक और खास चीज के बारे में पता चला है कि ये खोजी कुत्ते कोरोना के अल्फा वैरिएंट को सही ढंग से पहचाने में उतने सफल नहीं है क्योंकि उन्हें कोरोना के मूल रूप का पता लगाने के लिए प्रशिक्षित किया गया है। इस शोध के बाद से ये साबित होता है के कुत्ते विभिन्न तरह की गंध का अंतर पता लगाने में भी सक्षम हैं।

माना जाता है कि कुत्ते शरीर में होने वाली विभिन्न मेटाबोलिक प्रक्रियाओं के दौरान निकलने वाले अलग-अलग आर्गनिक यौगिकों का भी आसानी से पता लगा सकते हैं जिनमें बैक्टीरिया, वायरल और परजीवी संक्रमण से उत्पन्न होने वाले यौगिक शामिल हैं। रिपोर्ट के मुताबिक हेलसिंकी विश्वविद्यालय और फिनलैंड के हेलसिंकी विश्वविद्यालय हॉस्पिटल के रिसर्चर्स ने साल 2020 में SARS-CoV-2 को सूंघने के लिए चार कुत्तों को प्रशिक्षित किया था।

इनमें से प्रत्येक कुत्ते को इससे पहले मादक पदार्थों, खतरनाक वस्तुओं और कैंसर की पहचान का प्रशिक्षण दिया जा चुका था। इन कुत्तों को प्रशिक्षित करने के लिए 420 स्वयंसेवकों ने हर कुत्ते को अपनी त्वचा स्वाब के नमूने मुहैया कराये थे। इन चरों कुत्तों ने प्रत्येक स्वयंसेवकों में से 114 की त्वचा के नमूनों को सूंघा और पीसीआर स्वाब परीक्षण में सॉर्स-कोव-2 पॉजिटव पाया, जबकि 306 को निगेटिव पाया।

इसके बाद इन चार कुत्तों को सितंबर 2020 से अप्रैल 2021 के बीच फिनलैंड के हेलसिंकी-वेंटा अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर आने वाले 303 यात्रियों को सूंघने के लिए तैनात किया गया था। इसके बाद हर यात्री का एक पीसीआर स्वाब परीक्षण भी किया गया और उसका स्निफर डॉग के परीक्षण के नतीजों से मिलान किया गया। इस परीक्षण में स्निफर के 296 नतीजे समान रहे।