बढ़ते वजन को कम करने के लिए करें ये घरेलू उपाय

हमारा बढ़ता मोटापा हमारे आलस और मशीनों पर निर्भरता का नतीजा है। हम नीजी जिंदगी में इतने आलसी हो रहे हैं कि पैदल चलना और सीढ़ी पर चढ़ना भी भूलते जा रहे हैं।

हमारा बढ़ता मोटापा हमारे आलस और मशीनों पर निर्भरता का नतीजा है। हम नीजी जिंदगी में इतने आलसी हो रहे हैं कि पैदल चलना और सीढ़ी पर चढ़ना भी भूलते जा रहे हैं। घर से निकलते ही अपने व्हीकल का इस्तेमाल करते हैं और जहां सीढ़ियां चढ़नी होती है वहां लिफ्ट का यूज करते हैं। लोगों का यह आलस ही उन्हें मोटापा का शिकार बना रहा है। मोटापा से परेशान लोग जिम करने और डाइट कंट्रोल करने से पहले अपनी कुछ आदतों को बदल लें आपको अपने मोटापा से निजात मिल जाएगी।

आप जानते हैं सीढियां चढ़ने और उतरने से आप तेज़ी से अपना वज़न कंट्रोल कर सकते हैं। ऐसा कहा जाता है दिन में 10 बार सीढ़ियों पर उतरने- चढ़ने से 33% मृत्यु दर कम हो जाती है। आइए जानते हैं कि सीढ़ियां चढ़ने से सेहत को कौन-कौन से फायदे हो सकते हैं।

तेजी से घटेगा वजन-

सीढ़ियों पर चढ़ने से आपको पसीना ज्यादा आता है और तेजी से कैलोरी बर्न होती इससे आपका वजन तेजी से घटने लगता है।

दिल की सेहत में सुधार करना है तो सीढ़ी चढ़ें-

सीढ़ियां चढ़ना एक कार्डियो वैस्कुलर एक्सरसाइज है जो बॉडी को फिट रखती है साथ ही हार्ट अटैक के जोखिम को कम करती है।

मांसपेशियों के लिए बेस्ट एक्सरसाइज-

सीढ़ियां चढ़ने, सपाट सतह पर चलने, जॉगिंग या दौड़ने से हमारी मांसपेशियां मज़बूत बनती हैं। सीढ़ियां चढ़ने से पैर की मांसपेशियों के अलावा, आपके क्वाड्रिसेप्स, ग्लूट्स और हैमस्ट्रिंग को भी बेहतर बनाने में मदद मिलती है।

तनाव दूर होता है-

सीढ़ियां चढ़ने से आपका मूड भी बेहतर रहता है और तनाव कम होता है। सीढ़ी चढ़ने से तेजी से कैलोरी बर्न होती है। सीढ़ी चढ़ना तनाव और चिंता को दूर करने में बेहद मददगार है। सीढ़ी चढ़ने से एंडोर्फिन्स हार्मोन बढ़ता है और तनाव को दूर रखने में मदद मिलती है।

स्टेमिना बढ़ता है-

सीढ़ियां चढ़ने से आपके पैर, टखने में मांसपेशियों को स्टेबल किया जा सकता है। इससे आपका स्टेमिना बढ़ेगा। शुरूआत में आपको सीढ़ियां चढ़ने में परेशानी महसूस होगी लेकिन धीरे-धीरे यह आपके लिए आसान होता जाएगा।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *