भूकंप से कांपी धरती, दहशत में घरों से बाहर निकल आये लोग, नहीं हुआ कोई नुकसान

उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले में आज सुबह 10.03 बजे के आसपास भूकंप के झटके महसूस किए गए। भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने...

चंपावत। उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले में आज सुबह 10.03 बजे के आसपास भूकंप के झटके महसूस किए गए। भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 4.6 पर रही जबकि गहराई 05 किमी प्रति घंटा रही। नेपाल सीमा, जौलजीबी, धारचूला में झटका तेज रहा। आलम ये था कि लोग डर के मारे घरों से बाहर निकल आये।

earthquake

भूकंप के झटके आने के बाद जिला आपातकालीन परिचालन केंद्र पिथौरागढ़ द्वारा जिले के सभी तहसील क्षेत्रांर्गत और जनपद पुलिस नियंत्रण कक्ष पिथौरागढ़ द्वारा समस्त थाना क्षेत्रांर्गत में भूकंप से होने वाली क्षति को लेकर जानकारी प्राप्त की गई है। हालांकि किसी भी जिले ने अभी तक किसी तरह के नुकसान की कई सूचना नहीं है।
उत्तराखंड में भूकंप के झटकों से फिर धरती डोली।

पिथौरागढ़ जिले में सुबह 10.3 बजे भूकंप के झटके महसूस किए गए। जिसके बाद लोग दहशत में घरों से बाहर निकले। हालांकि अभी तक किसी भी तरह से जानमाल के नुकसान की कोई सूचना नहीं मिली है। बता दें कि इससे पहले भी बीते 12 फरवरी को भूकंप के झटके महसूस किए गए थे। उस वक्त भूकंप की तीव्रता 4.1 दर्ज की गई थी। तब उत्तराखंड का उत्तरकाशी जिला भूकंप का केंद्र था।

इन बातों का रखें ध्यान

दरअसल, भूकंप एक प्राकृतिक आपदा है। भूकंप आने पर अगर कुछ खास बातों का ध्यान रख लिया जाये तो आसानी से सुरक्षित बचा जा सकता है।

1- मकान, दफ्तर या किसी भी इमारत में अगर आप हैं तो वहां से तुरंत निकलकर खुले में आ जाएं।
2- भूकंप के समय खुले मैदान से अधिक सेफ स्थान कोई नहीं होता।
3- किसी बिल्डिंग के आसपास भी न खड़े हों।
4- अगर आप ऐसी बिल्डिंग में रह रहे हैं, जहां लिफ्ट हो तो लिफ्ट का इस्तेमाल बिलकुल भी न करें. ऐसी स्थिति में सीढ़ियों का ही इस्तेमाल करना चाहिए है।
5- घर के दरवाजे और खिड़की को खुला रखें।
6- घर की सभी बिजली के स्विच को ऑफ कर दें।