अमेरिका के इन स्कूलों में हर दिन दूसरे देशों के बच्चे पढ़ने आते हैं, अपने साथ रखते है पासपोर्ट

नई दिल्ली: आपने कई बार सुना होगा कि किसी व्यक्ति का स्कूल उसके गांव से पांच किलोमीटर, 10 किलोमीटर और कभी-कभी 25 किलोमीटर दूर भी होता है, बच्चे स्कूल जाते हैं, लेकिन क्या आपने कभी ऐसे स्कूल के बारे में सुना है? मैंने सुना है जिसमें बच्चे पढ़ाई के लिए अंतरराष्ट्रीय सीमा पार करते हैं और उस स्कूल में पढ़ने वाले ज्यादातर बच्चे हर समय पासपोर्ट अपने साथ रखते हैं।

school_fee_199758_730x419अमेरिका में कई ऐसे स्कूल हैं, जहां बच्चे पढ़ने के लिए हर दिन अंतरराष्ट्रीय सीमा पार करते हैं और इन्हीं में से एक स्कूल है कोलंबस एलीमेंट्री स्कूल। एक रिपोर्ट के मुताबिक इस स्कूल में कुल 600 बच्चे पढ़ते हैं और 400 से ज्यादा ऐसे बच्चे हैं जो रोजाना अंतरराष्ट्रीय सीमा पार करते हैं.

दरअसल, जहां मेक्सिको और अमेरिका की सीमा पाई जाती है, वहां आसपास के कई इलाकों में ऐसी आबादी है, जहां परिवार में एक व्यक्ति अमेरिका का है और दूसरा मेक्सिको का है. हालांकि करीब 5 हजार की आबादी वाले मेक्सिको के प्यूर्टो पालोमास में इसका अनुपात काफी ज्यादा है।

ऐसा इसलिए है क्योंकि निकटतम अस्पताल पालोमास से 2 घंटे की दूरी पर है, जो मैक्सिकन सीमा पर है। ऐसे में कई बार जब महिलाएं इमरजेंसी में लेबर पेन से जूझती हैं तो वे अमेरिका का रुख करती हैं, क्योंकि वहां से सबसे नजदीकी अमेरिकी अस्पताल 45 मिनट की दूरी पर है। सीमा अधिकारी इन महिलाओं को मानवीय आधार पर अमेरिकी अस्पताल में जाने की अनुमति देते हैं। हालांकि, 2010 के बाद यह व्यवस्था बदल गई, क्योंकि पालोमास में एक छोटा क्लिनिक भी खोला गया था और तब से इस तरह की संख्या में काफी कमी आई है।

ऐसे में बच्चे अमेरिका में पैदा होते हैं, इसलिए अमेरिकी कानून के मुताबिक उन्हें अमेरिका के स्कूल में पढ़ने की इजाजत है। इन बच्चों को अमेरिकी नागरिक का दर्जा मिला है, क्योंकि अमेरिकी संविधान के 14वें संशोधन के तहत अमेरिकी धरती पर पैदा हुए बच्चे को अमेरिकी नागरिक माना जाता है। बता दें, मेक्सिको और अमेरिका की सीमा पर कई ऐसे स्कूल हैं, जहां ऐसे स्कूल हैं, जिनमें बच्चे अपने साथ स्कूल आते समय पासपोर्ट अपने पास रखते हैं.

ऐसे में इन बच्चों के लिए अमेरिकी सीमा पर स्थित स्कूल तक पहुंचने के लिए भी कुछ खास इंतजाम किए गए हैं ताकि बच्चों को कोई परेशानी न हो. इस दौरान बच्चों को अधिकारियों को अपना पासपोर्ट दिखाना होता है और उसके बाद उन्हें सीमा में प्रवेश की अनुमति दी जाती है। इससे पहले सभी बच्चे अमेरिका की सीमा के पास पालोमास के पास बसों के जरिए पहुंचते हैं और फिर वे अपनी स्कूल बसों में एक-एक करके अपने स्कूल जाते हैं.