हाथरस कांड : भाकपा (माले) के राज्य सचिव का योगी सरकार पर हमला, कही ये बड़ी बात

हाथरस कांड में घिर चुकी योगी सरकार मामले की जांच फरवरी दिल्ली दंगों की 'जांच' के तर्ज पर कराना चाहती है।

लखनऊ, 05 अक्टूबर यूपी किरण। हाथरस कांड में घिर चुकी योगी सरकार मामले की जांच फरवरी दिल्ली दंगों की ‘जांच’ के तर्ज पर कराना चाहती है। ये बातें भाकपा (माले) के राज्य सचिव सुधाकर यादव ने सोमवार को कही। उन्होंने कहा कि यूपी पुलिस ने सोमवार को हाथरस के घटनास्थल से संबंधित चंदपा थाने में राजद्रोह, धोखाधड़ी, आपराधिक षड्यंत्र सहित आधा दर्जन से अधिक गंभीर धाराओं में अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करा दी है। इसके ठीक पहले मुख्यमंत्री योगी द्वारा विपक्ष पर हाथरस कांड को लेकर जातीय व साम्प्रदायिक दंगे भड़काने का आरोप लगाया गया था।
 
माले नेता ने कहा कि इससे लगता है कि योगी सरकार असल अपराधियों पर कार्रवाई करने के बजाय विपक्षी नेताओं-कार्यकर्ताओं को उसी तरह फंसाना चाहती है, जैसे केंद्र सरकार के अधीन काम करने वाली दिल्ली पुलिस ने इस साल फरवरी के दिल्ली दंगों की जांच के नाम पर किया है। दिल्ली में भाजपा से जुड़े असल दंगाइयों की बख्श दिया गया और उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग करने वाले विपक्षी नेताओं, बुद्धिजीवियों व समाजसेवियों को आरोपों के दायरे में घसीट लिया गया।
 
सुधाकर यादव ने कहा कि भाजपा सरकार की यह पूरी कवायद विपक्ष को चुप कराने, सवर्ण समुदाय के आरोपितों को बचाने, मामले को एसआईटी व सीबीआई जांच के नाम पर लटकाने और अभी होने जा रहे विधानसभा के उपचुनावों में राजनीतिक लाभ उठाने के लिए है। 
 
माले नेता ने कहा कि हाथरस में जहां आरोपी पक्ष को सैकड़ों लोगों की पंचायतें करने की छूट है, वहीं विपक्षी नेताओं पर लाठियां बरसाई जा रही हैं, निषेधाज्ञा लागू की जा रही है और मुकदमे लिखे जा रहे हैं। माले नेता ने कहा कि योगी सरकार न्याय की आवाज को दमन से चुप कराने की भूल न करे।
 

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *