प्रेग्नेंसी में कैसे करें डायबिटीज को कंट्रोल, फॉलो करें ये टिप्स

नई दिल्ली: गर्भावस्था के दौरान कुछ महिलाओं का ब्लड शुगर लेवल काफी बढ़ जाता है। ऐसे में आपको खान-पान का खासा ख्याल रखना चाहिए। कुछ महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान मधुमेह की समस्या होती है। इसे गर्भकालीन मधुमेह कहा जाता है। यह मधुमेह प्रसव के बाद समाप्त हो जाता है। हालांकि गर्भावस्था के दौरान गर्भ में पल रहे बच्चे पर इसका बुरा असर पड़ता है। कभी-कभी मधुमेह से समय से पहले बच्चे और गर्भपात होने का खतरा बढ़ जाता है। ऐसे में आपके लिए जरूरी है कि बढ़े हुए ब्लड शुगर को कंट्रोल किया जाए। डाइट में इन चीजों को शामिल कर आप डायबिटीज को कंट्रोल कर सकते हैं।

13_57_468797687gestational-diabetes-test1- सलाद- सलाद खाने से सलाद खाने से ग्लूकोज के स्तर को कम करने में मदद मिलती है। शुगर को कंट्रोल करने के लिए आपको खाने में सलाद ज्यादा शामिल करना चाहिए। इससे ग्लाइसेमिक इंडेक्स धीमा रहता है और मधुमेह नियंत्रण में रहता है। आप अलग-अलग तरह के सलाद ट्राई कर सकते हैं।

2- अंडे- अंडे खाने से डायबिटीज को कंट्रोल किया जा सकता है. अंडे में प्रोटीन, कैल्शियम और ओमेगा-3 फैटी एसिड होता है। इससे आपकी सेहत को कई फायदे मिलते हैं। जब ब्लड शुगर बढ़ जाए तो आपको अंडे को अपनी डेली डाइट में जरूर शामिल करना चाहिए। अंडे को आप नाश्ते के रूप में खा सकते हैं। इससे बच्चे के मस्तिष्क के विकास में मदद मिलेगी और मधुमेह भी नियंत्रित रहेगा।

3- बादाम- गर्भावस्था के दौरान मधुमेह को नियंत्रित करने के लिए आप बादाम को अपनी डाइट में जरूर शामिल करें। भीगे हुए बादाम खाने से बच्चे का विकास अच्छा होता है। जब भी आपको भूख लगे और कुछ स्नैक्स खाने का मन करे तो आप 10 बादाम खा लें। इससे आपकी क्रेविंग भी शांत होगी और ब्लड शुगर भी कंट्रोल में रहेगा।

4- चिया सीड्स- प्रेग्नेंसी में भरपूर मात्रा में फाइबर लेने से ब्लड शुगर कंट्रोल करने में मदद मिलती है। साथ ही पाचन क्रिया भी अच्छी रहती है। चिया बीज खाने से मधुमेह को नियंत्रित करने में मदद मिलती है। यह फाइबर से भरपूर होता है, जिससे जल्दी भूख नहीं लगती है। चिया सीड्स ओमेगा-3 फैटी एसिड और कैल्शियम का अच्छा स्रोत हैं।

5- दही- गर्भवती महिलाओं को भी अपने आहार में दही को शामिल करना चाहिए। दही से मधुमेह को काफी हद तक नियंत्रित किया जा सकता है। दही में प्रो-बायोटिक्स होते हैं जो आंतों को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं। दही खाने से पाचन क्रिया बेहतर होती है और रोग प्रतिरोधक क्षमता भी मजबूत होती है।