दिल की बीमारी से बचने के लिए अपने खानें में शामिल करें ये चीज

एशियाई लोग में दिल की बीमारियों का खतरा कम रहता है इसकी वजह है मूंगफली का सेवन। यह दावा जापान की ओसाका यूनिवर्सिटी के रिसर्च ने अपनी एक रिसर्च में किया है।

एशियाई लोग में दिल की बीमारियों का खतरा कम रहता है इसकी वजह है मूंगफली का सेवन। यह दावा जापान की ओसाका यूनिवर्सिटी के रिसर्च ने अपनी एक रिसर्च में किया है। रिसर्च के अनुसार, जापान में रहने वाले जिन एशियाई लोगों ने डेली कम से कम 4-5 मूंगफली खाई उनमें इस्केमिक स्ट्रोक और दिल की बीमारियों का खतरा कम हो गया। वैसे मूंगफली ही नहीं अखरोट, बादाम, पिस्ता दूसरे नट्स भी कई बीमारियों से शरीर को महफूज रखते हैं।

ऐसे हुई रिसर्च-

लोग कितने वक्त में कितनी मूंगफली का सेवन करते हैं जिससे दिल की बीमारियों का रिस्क कम हो सके, यह पता लगाने के लिए दो स्टेप्स में रिसर्च की गई। पहली रिसर्च 1995 में और दूसरी रिसर्च 1998 से 1999 के बीच हुई।रिसर्च में 74,000 एशियाई महिला और पुरुषों को शामिल किया गया। इनकी उम्र लगभग 45 से 74 साल थी।

रिसर्च में शामिल लोगों से सवाल-जवाब के जरिए यह पूछा गया कि उन्होंने रोजाना या हफ्ते में कितनी मूंगफली खाई थी।
जिसके बाद, इन लोगों पर अगले 15 साल तक नजर रखी गई और इसी के बेस पर पाया गया कि मूंगफली न खाने वालों की तुलना में मूंगफली का सेवन करने वालों में क्या फर्क रहा।

बिना नमक के मूंगफली खाएं-

रिसर्चर्स के अनुसार, एशियाई देशों में नट्स खाने की आदत न के बराबर होती है, लेकिन इसे रोजमर्रा की जिंदगी में शामिल करने पर बीमारियों का रिस्क घट जाता है।

अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन का कहना है, हफ्ते में पांच बार 2 टेबल स्पून मूंगफली बिना नमक के साथ खानी चाहिए।
मूंगफली क्यों फायदा पहुंचाती है?

  • मूंगफली में मोनोअनसेचुरेटेड फैटी एसिड्स, पॉलिअनसेचुरेटेड फैटी एसिड्स, मिनरल्स, विटामिंस और फाइबर जैसी कई चीज़ें हैं जो हमारे दिल के लिए फायदेमंद हैं।
  • हाई ब्लड प्रेशर से लेकर बैड कोलेस्ट्रॉल तक को इसे खाकर कंट्रोल किया जा सकता है।
  • सूजन की समस्या भी दूर करता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *