अफगानिस्तान में शांति स्थापित करने में भारत की अहम भूमिका : अब्दुल्लाह

अब्दुल्लाह अब्दुल्लाह भारत सरकार के आमंत्रण पर भारत के आधिकारिक दौरे के लिए निकल चुके हैं। वह यहां शांति के लिए किए गए प्रयासों पर बातचीत करने, क्षेत्रीय सहमति प्राप्त करने और अफगान शांति समझौते के लिए जरूरी समर्थन हासिल करने के लिए आ रहे हैं।

काबुल, 06 अक्टूबर। अफगानिस्तान चेयरमैन ऑफ हाई काउंसिल फॉर नेशनल रिकॉन्सिलिएशन के अध्यक्ष अब्दुल्लाह अब्दुल्लाह ने मंगलवार को कहा कि युद्ध से त्रस्त अफ़गानिस्तान में लंबे समय तक शांति स्थापित करने के लिए भारत की अहम भूमिका है।

abdullah

अब्दुल्लाह अब्दुल्लाह भारत सरकार के आमंत्रण पर भारत के आधिकारिक दौरे के लिए निकल चुके हैं। वह यहां शांति के लिए किए गए प्रयासों पर बातचीत करने, क्षेत्रीय सहमति प्राप्त करने और अफगान शांति समझौते के लिए जरूरी समर्थन हासिल करने के लिए आ रहे हैं। उनके साथ एक उच्च स्तर का शिष्टमंडल भी होगा।

‘अपने भारत दौरे पर वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, विदेश मंत्री एस जयशंकर, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल से मिलेंगे और रक्षा विश्लेषण और अध्ययन संस्थान (इंस्टीट्यूट फॉर डिफेंस स्टडीज एंड एनालिसिस) में व्याख्यान भी देंगे।

अब्दुल्ला ने अपने भारत प्रस्थान के पहले कहा कि भारत ने वर्सेस अफगानिस्तान और वहां के लोगों का साथ दिया है भारत अफगानिस्तान का सामरिक साथी है। भारत ने हमेशा अफगानिस्तान और वहां के लोगों का साथ दिया है। भारत के साथ हमारी ऐतिहासिक संबंध हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण है। अफगानिस्तान में लंबे समय तक शांति स्थापित करने के लिए भारत की अहम भूमिका है।

अब्दुल्लाह का भारत दौरा उस समय हो रहा जब अफगानिस्तान सरकार और तालिबान अफगानिस्तान में शांति स्थापित करने के लिए एक दूसरे से प्रत्यक्ष बातचीत करने के प्रयास कर रहे हैं। अब्दुल्लाह अब्दुल्लाह ने हाल ही में पाकिस्तान का दौरा किया था जहां उन्होंने वहां के प्रधानमंत्री इमरान खान और अन्य अधिकारियों से अंतर अफगान समझौते पर बातचीत की।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *