वास्तु शास्त्र के अनुसार नमक के इस्तेमाल का महत्व जानिए, क्योंकि….

नई दिल्ली: बिना नमक के स्वादिष्ट खाने की कल्पना नहीं की जा सकती. थोड़ा सा नमक आपके खाने को स्वादिष्ट बना देता है। खाने में नमक कम हो तो वह बेस्वाद लगता है। नमक न केवल भोजन को स्वादिष्ट बनाता है बल्कि नकारात्मक ऊर्जा को दूर करने की अद्भुत शक्ति भी रखता है। वास्तु शास्त्र के अनुसार नमक में बुरी शक्तियों को दूर भगाने की बड़ी शक्ति होती है। नमक का प्रयोग न केवल आपके घर को सकारात्मक ऊर्जा से भर देता है बल्कि आपके घर में सुख-समृद्धि बढ़ाने में भी मदद करता है।

वास्तु दोष के लिए
वास्तु दोषों की रोकथाम में नमक एक शक्तिशाली उपाय है। कांच के कटोरे में सेंधा नमक की डली भरकर शौचालय में रखने से वहां की नकारात्मक ऊर्जा समाप्त हो जाती है। पंद्रह दिन बाद नमक बदलते रहें। दरअसल, नमक और कांच दोनों ही राहु की वस्तुएं हैं जो राहु के नकारात्मक प्रभावों को दूर करती हैं। राहु नकारात्मक ऊर्जा और रोगाणु, जो संक्रमण देते हैं। इसका कारक माना जाता है। जिससे परिवार के स्वास्थ्य और समृद्धि दोनों पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है।

पति-पत्नी के बीच अच्छे संबंध के लिए
यदि पति-पत्नी के बीच आपसी मेल-मिलाप न हो और छोटी-छोटी बातों पर झगड़ा हो जाए तो कलह दूर करने के लिए आप अपने शयनकक्ष में सेंधा नमक का एक छोटा टुकड़ा अवश्य रखें। नमक नकारात्मक ऊर्जा को सोख लेता है, जिससे माहौल हल्का होगा और धीरे-धीरे तनाव दूर होगा और रिश्तों में सुधार आएगा।

सेंधा नमक लैंप से गुड लक
घर में सकारात्मक माहौल के लिए आप चाहें तो सेंधा नमक की जगह सेंधा नमक का दीपक भी रख सकते हैं। इसे किसी भी कमरे में रखा जा सकता है, लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि इसे कमरे में रखने की दिशा दक्षिण या दक्षिण-पूर्व हो। इस दीपक को जलाने से आपको मन की शांति का अनुभव होता है, इतना ही नहीं आप इससे तरोताजा भी महसूस करेंगे। घर में सेंधा नमक रखने से सकारात्मक ऊर्जा का संचार होगा, जिससे आपकी शारीरिक, मानसिक और आर्थिक परेशानियां दूर होंगी।

दृष्टि चली जाएगी
अगर परिवार के किसी सदस्य की आंखों की रोशनी चली गई हो तो एक चुटकी नमक और थोड़ी सी राई लेकर सिर पर सात बार फेंक दें और पानी में फेंक दें या बाहर फेंक दें, दृष्टि चली जाएगी। सप्ताह में एक बार पानी में चुटकी भर नमक मिलाकर बच्चों को नहलाएं, बच्चे नहीं देख पाएंगे और स्वास्थ्य संबंधी परेशानियां भी कम होंगी।

तनाव दूर
सोते समय पानी में एक चुटकी नमक मिलाकर हाथ-पैर धोने से शारीरिक थकान दूर होती है, तनाव दूर होता है और अच्छी नींद आती है। इसके अलावा राहु और केतु के दुष्प्रभाव भी दूर होते हैं।

लक्ष्मी जी की कृपा
गुरुवार को छोड़कर, पोंछते समय, पानी में थोड़ा सा साबुत नमक (समुद्री नमक) मिलाना चाहिए। इस उपाय से घर की नकारात्मक ऊर्जा का भी नाश होता है और दरिद्रता दूर करने के बाद धन का आगमन होता रहेगा।