महराजगंज: गर्भवती की पोषण पोटली देकर की गई गोदभराई, पौष्टिक आहार की दी गई सलाह

महराजगंज 24 मई: परतावल ब्लाॅक के आंगनबाड़ी केन्द्र बसहियां खुर्द पर ग्राम प्रधान इन्द्रावती देवी की उपस्थिति में गर्भवती आरती देवी को पोषण पोटली देकर मंगलवार को गोदभराई की गयी। इस दौरान गर्भवती को गर्भावस्था के दौरान पौष्टिक आहार लेते रहने तथा समय-समय पर चेकअप कराने की सलाह दी गयी।

maharajganj health

गोदभराई के दौरान मुख्य सेविका सीमा दुबे ने बताया कि गर्भवती को गर्भावस्था के दौरान विशेष सावधानी बरतनी चाहिए। सेहत सही रहे इसके लिए पौष्टिक आहार में दूध, पनीर, ताजी हरी सब्जी, मौसमी फल, दाल, जूस तथा अन्य प्रोटीन व विटामिन युक्त आहार लेती रहें।

समय-समय पर चिकित्सक से सलाह लेते रहना चाहिए, साथ ही जरूरी टीके भी लगवाते रहना चाहिए। उन्होंने आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को भी निर्देशित किया कि समय समय पर पंजीकृत सभी गर्भवती का फाॅलोअप करती रहें। विभाग से मिलने वाले आयरन फोलिक एसिड एवं कैल्शियम की गोली खाते रहना चाहिए।

गर्भवती आरती देवी पत्नी श्यामबली यादव ने बताया कि गोदभराई के अवसर पर न केवल पोषण पोटली मिली, बल्कि गर्भावस्था के दौरान सेहत के प्रति विशेष सावधानी बरतने की सलाह भी मिली। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता पूनम शुक्ला ने बताया कि केन्द्र पर कुल एक दर्जन गर्भवती, दस धात्री महिलाएं, सात माह से तीन साल के 65 बच्चे तथा तीन साल से 6 वर्ष तक के 30 बच्चे पंजीकृत हैं।

केन्द्र पर पंजीकृत बच्चों का भी नियमित फाॅलोअप करके उनके लंबाई व वजन का नाप लिया जाता है। केन्द्र से मिलने वाले सूखा राशन से विभिन्न प्रकार के व्यंजन बनाकर सेवन करने की सलाह दी जाती है। केन्द्र पर तीन साल का एक बच्चा कुपोषित श्रेणी का है, जिसकी नियमित देखभाल करके उसे सुपोषित बनाने का प्रयास किया जा रहा है। इसके लिए स्वजनों से भी ख्याल रखने के लिए कहा गया है।

फाॅलोअप के द्वारा जहां धात्री महिलाओं को कम से कम छह माह तक सिर्फ और सिर्फ स्तनपान कराने के सलाह दी जाती है, छह माह बाद अर्धठोस आहार के साथ स्तनपान जारी रखने को कहा जाता है।

गर्भवती को गर्भावस्था के दौरान उपरोक्त सावधानी बरतने के साथ- साथ संस्थागत प्रसव कराने की भी सलाह दी जाती है।
इस अवसर पर शीतल, सुनीता, नीलम, सुशीला देवी, संगीरा, नीला, सुभावती देवी, इन्द्रावती देवी, पुष्पा और हरिशुबनिशा प्रमुख रूप से मौजूद रहीं।