15 की उम्र में 33 साल के युवक से शादी, फिर प्रेमी संग मिल खेला ऐसा खौफनाक खेल

थाना नगला खंगर क्षेत्र में नौ दिन पूर्व हुई सर्वेश की हत्या उसकी ही पत्नी ने प्रेमी के सहयोग से मुंह पर तकिया रख गला दबाकर की थी।

फिरोजाबाद। थाना नगला खंगर क्षेत्र में नौ दिन पूर्व हुई सर्वेश की हत्या उसकी ही पत्नी ने प्रेमी के सहयोग से मुंह पर तकिया रख गला दबाकर की थी। हत्या के झूठे केस में फंसाने के लिए मृतक की पत्नी ने मृतक के तीन भाई व एक भतीजे के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस ने गुरुवार को हत्यारोपित पत्नी और उसके प्रेमी को गिरफ्तार कर घटना का खुलासा किया है।
woman नाम से सेव कर लेना

मृतक की पत्नी ने मृतक के तीन भाई व एक भतीजे के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार ने बताया कि 31 मई की रात्रि में थाना नगला खंगर क्षेत्र के गांव नगला जोरे निवासी सर्वेश कुमार की मौत हुई थी। 03 जून को मृतक की पत्नी ने थाने में मृतक के भाई राजन सिंह, दीवान सिंह व रामपाल पुत्रगण नाथूराम व अनुज पुत्र दीवान सिंह निवासी नगला जोरे के विरूद्ध हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था। इस घटना के खुलासे के लिये स्वॉट टीम व थाना पुलिस को लगाया गया था।

15 की उम्र में 33 साल के युवक से शादी, मारपीट करता था सर्वेश

गहन छानबीन व ठोस साक्ष्य संकलन के आधार पर सनसनीखेज खुलासा सामने आया कि मृतक सर्वेश की हत्या उसकी पत्नी सरोज व उसके प्रेमी गोलू उर्फ गौतम पुत्र भारत सिंह निवासी नगला जोरे ने की है। गुरुवार को स्वॉट टीम प्रभारी अनिल कुमार व थाना नगला खंगर प्रभारी लालता प्रसाद नर पुलिस टीम के साथ दोनों को गढिया पंचवटी के पास एक्सप्रेस वे पुल के ऊपर से गिरफ्तार कर लिया।
पूंछतांछ पर मृतक की पत्नी सरोज ने बताया कि उसकी शादी वर्ष 2007 में 15 वर्ष की उम्र में कर दी गयी थी। उस समय उसके पति की उम्र करीब 33 वर्ष थी। आए दिन शराब पीकर घर आने पर मारपीट करता था। जिसके कारण मैंने अपने प्रेमी गोलू के साथ मिलकर अपने पति सर्वेश को मारने की योजना बनाई। जिसके तहत 31 मई की रात्रि अपने प्रेमी गोलू को फोन करके घर बुलाया। मैने सर्वेश के हाथ दबाकर सर्वेश के मुंह को तकिया से दबा दिया एवं गोलू द्वारा सर्वेश का गला दबा दिया गया, जिससे उसकी मृत्यु हो गयी।
एसएसपी ने बताया कि इस प्रकार निष्पक्ष कार्यवाही कर गम्भीरता से साक्ष्य संकलन करने के परिणामस्वरूप चार नामित आरोपी जो निर्दोष थे और उनको योजनाबद्ध तरीके से हत्या के मुकदमे में फंसाने का प्रयास किया गया था। वह जेल जाने से बच गए व दोषियों के विरूद्ध कार्यवाही की जा सकी है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *