माउंट बेरी कान्वेंट स्कूल में धूमधाम से मनाया गया मदर्स डे

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के कल्याणपुर स्थित माउंट बेरी कान्वेंट स्कूल में सोमवार को मदर्स डे धूमधाम से मनाया गया। क्योंकि रविवार को छुट्टी होने की वजह से एक दिन बाद स्कूल में मदर्स डे पर कई तरह के कार्यक्रम आयोजित किए गए। इस दौरान प्री प्राइमरी विंग के स्टूडेंट्स ने कई तरह की एक्टीविटी करते हुए मां के प्रति प्यार और त्याग को दर्शाने का प्रयास किया।Mount bery convent

नन्हे-मुन्हे बच्चों ने खुद से बनाए हुए मदर्स कार्ड अपनी मम्मियों को दिए। कार्यक्रम के दौरान बच्चों ने डांस, सिंगिंग के जरिए न केवल अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया बल्कि मम्मियों के प्रति अपने प्रेम को भी उजागर किया।

कार्यक्रम का शुभांरभ भूमि बिष्ट द्वारा प्रस्तुत डांस से हुई। सर्वप्रथम बच्चों ने मॉं सरस्वती की वंदना प्रस्तुतीकर मॉं से आशीर्वाद प्राप्त किया। उसके बाद छोटे बच्चों द्वारा तू कितनी अच्छी है, तू कितनी भोली है। प्यारी-प्यारी है, ओ मां ओ मां…पर प्रस्तुत डॉंस सभी द्वारा बहुत पसंद किया गया। स्कूल में मातृ दिवस के अवसर पर सभी माताओं के लिए विभिन्न खान पान का आयोजन भी किया गया।

प्रिंसिपल डॉ. उज्मा शाहिद ने कहा कि मां की ममता और त्याग के बारे में बच्चों में समझ होनी जरूरी है। मदर्स डे के जरिए विभिन्न एक्टीविटी करवाकर हम स्टूडेंट्स में उस समझ को पैदा कर सकते हैं। मदर्स डे के कार्यक्रम में विद्यार्थियों के साथ स्कूल स्टाफ भी भाग लेता है ताकि स्टूडेंट्स टीचर्स की भावना को भी समझ सकें।

वहीं, वाइस प्रिंसिपल गीता त्रिपाठी ने कहा है कि मातृदिवस का अर्थ माँ का दिन होता है। जब एक शिशु जन्म लेता है तो उसका पहला रिश्ता माँ से होता है। एक माँ शिशु को पूरे नौ माह अपनी कोख में रखने के बाद जन्म देती है। इन नौ महीनों में शिशु और माँ के बीच एक अदृश्य प्यार और गहरा रिश्ता बन जाता है और यह रिश्ता जीवनपर्यंत बना रहता है। बच्चों के तकलीफ होने पर माँ बेचैन हो उठती है। वही तकलीफ के समय बच्चा भी माँ को याद करता है। ये ममता और स्नेहबक इस रिश्ते को संसार का सबसे खूबसूरत रिश्ता कहा जाता है। दुनिया का कोई भी रिश्ता इतना मर्मस्पर्शी नही हो सकता।

इस दौरान स्कूल के सीनियर इंचार्ज इत्तेफ़ाक अहमद ख़ां सर, इंचार्ज रमन सर, सीमा सिद्दीकी, विभा वाजपेयी, नवनीता आर्या, सीमा चौहान, संध्या, तुलिका, संगीता, दीपिका, प्रतिभा, फौज़िया, रवीना, नीतू, जागृति, संतोषी, रुखसार, इज़ाला और इफ़्फत समेत समस्त स्टाफ मौजूद रहा। कार्यक्रम का संचालन फौजिया द्वारा किया गया। कार्यक्रम के अंत में बच्चों के उज्जवल भविष्य की कामना कर सभी माताओं का धन्यवाद किया गया।