Chhattisgarh कांग्रेस में भी शुरू हुई कलह, राज्य स्वास्थ्य मंत्री ने ऐसे दिखाई नाराजगी

छत्तीसगढ़ राज्य के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव ने अपनी ही सरकार से नाराज़ होकर विधानसभा का बहिष्कार कर दिया और नाराजगी जताते हुए बाहर....

रायपुर। पहले से ही तमाम मुश्कलों से घिरी कांग्रेस के हालात संभलने का नाम नहीं ले रहे हैं। पंजाब के बाद अब छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) कांग्रेस में घमासान छिड़ गया है। छत्तीसगढ़ राज्य के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव अपनी ही सरकार से नाराज़ होकर विधानसभा का बहिष्कार कर दिया और नाराजगी जताते हुए बाहर निकल गए। जब मीडिया ने उनसे इस बारे में सवाल किया तो उन्होंने कहा कि मैं तब तक इस पवित्र सदन में नहीं आऊंगा जब तक कांग्रेस विधायक के हमला करने के आरोपों पर सरकार का बयान सदन में नहीं आ जाता। बता दें कि कांग्रेस विधायक बृहस्पति सिंह ने स्वास्थ्य मंत्री पर जान से हमला करने का आरोप लगाया था।

Chhattisgarh

स्वास्थ्य मंत्री का कहना है कि जब तक राज्य सरकार इस मामले में जांच का आदेश नहीं देती या बयान जारी नहीं करती, मैं खुद को इस सत्र का हिस्सा बनने के योग्य नहीं पाता, मेरे चरित्र और मेरे परिवार के बारे में सभी जानते हैं।’’ दरअसल राज्य के रामानुजगंज विधानसभा सीट से कांग्रेस के विधायक बृहस्पत सिंह ने आरोप लगाया था कि स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव (Chhattisgarh) के इशारे पर सरगुजा जिले के अंबिकापुर शहर में उनके काफिले के एक वाहन पर कथित रूप से हमला किया गया। उन्होंने कहा था कि उन्होंने बघेल की प्रशंसा की थी और कहा था कि वह राज्य के मुख्यमंत्री बने रहेंगे। यह बयान मंत्री सिंहदेव को पसंद नहीं आया और उन्होंने गुस्से में काफिले पर हमला करा दिया।

कांग्रेस विधायक बृहस्पति सिंह ने आरोप लगे था कि कथित हमले में तीन लोग थे जिनमें से एक स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव (Chhattisgarh) का दूर का एक रिश्तेदार भी शामिल था। उन्होंने यह भी कहा था कि स्वास्थ्य मंत्री से उनकी जान को खतरा है। इन आऱोपों को लेकर सिंहदेव ने कहा था कि उनके क्षेत्र और राज्य के लोग उनकी छवि के बारे में अच्छी तरह से जानते हैं। उन्हें इस विषय पर कुछ नहीं कहना है।

Mamata Banerjee का ‘मिशन दिल्ली’ : राष्ट्रीय स्तर पर बड़ी भूमिका निभाने की तैयारी

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *