OMG: ये है दुनिया का आखिरी हाईवे, जहां मौत करती है अकेले जाने वालों का इंतजार

नई दिल्ली: पूरी दुनिया में ऐसी अद्भुत जगहें हैं जिनके बारे में ज्यादातर लोग नहीं जानते हैं। इनमें से कुछ तो इतने खतरनाक हैं कि यहां पहुंचने वाला कभी जिंदा वापस नहीं आता। आज हम आपको एक ऐसे हाईवे के बारे में बताने जा रहे हैं जो दुनिया का आखिरी हाईवे माना जाता है। वहीं इस पर अकेले जाने वाले के साथ कुछ ऐसा हो जाता है जिसे जानकर इंसान की रूह कांप जाती है. हम बात कर रहे हैं उत्तरी ध्रुव की, जो पृथ्वी का सबसे दूर उत्तरी बिंदु है। यह वह बिंदु है जिस पर पृथ्वी की धुरी घूमती है। जिसे नॉर्वे का अंतिम छोर भी कहा जाता है।

यहां से जाने वाली सड़क दुनिया की आखिरी सड़क मानी जाती है। इस सड़क का नाम E-69 हाईवे है, जो पृथ्वी के सिरों और नॉर्वे को जोड़ता है। यह वह सड़क है जहां से आगे कोई सड़क नहीं है। इस सड़क के अंत में आपके आगे केवल बर्फ ही दिखाई देगी। साथ ही समुद्र की लहरें। दरअसल, ई-69 एक हाईवे है, जो करीब 14 किलोमीटर लंबा है। इस हाईवे पर कई जगह ऐसी हैं जहां अकेले चलना या गाड़ी चलाना मना है।

यानी यहां जाने के लिए कई लोगों का एक साथ होना जरूरी है। उसके बाद ही आप यहां से गुजर सकते हैं। इसके पीछे कारण यह है कि हर तरफ बर्फ की मोटी चादर बिछी होने के कारण यहां हमेशा खो जाने का खतरा बना रहता है। उत्तरी ध्रुव के पास होने के कारण यहाँ न तो जाड़े के मौसम में रातें समाप्त होती हैं और न ही गर्मियों में सूरज डूबता है। कई बार यहां छह महीने तक सूरज नहीं दिखता है। सर्दियों में यहां का तापमान माइनस 43 डिग्री से माइनस 26 डिग्री सेल्सियस तक चला जाता है। जबकि गर्मियों में तापमान का औसत हिमांक शून्य डिग्री सेल्सियस के आसपास रहता है।

हैरान करने वाली बात यह है कि यहां भीषण ठंड के बावजूद लोग रहते हैं। पहले यहां केवल मछली का व्यापार होता था। लेकिन साल 1930 से इस जगह का विकास शुरू हो गया। करीब चार साल बाद यानी 1934 में यहां के लोगों ने मिलकर फैसला किया कि यहां पर्यटकों का भी स्वागत किया जाना चाहिए, ताकि उनकी कमाई में आय का एक और स्रोत भी शामिल हो सके। अब दुनिया भर से लोग उत्तरी ध्रुव की सैर करने आते हैं।

यहां उन्हें लगता है कि वे एक अलग ही दुनिया में हैं। यहां डूबते सूरज और ध्रुवीय रोशनी को देखना उनका सबसे अच्छा आकर्षण है। गहरे नीले आसमान में कभी हरी तो कभी गुलाबी रोशनी दिखाई देती है। आपको बता दें कि पोलर लाइट्स को ‘औरोरा’ कहा जाता है जो रात में दिखाई देती हैं।