OMG: अविवाहित लड़कियों के लिए यह अनोखी प्रथा किसी नर्क से कम नहीं है

नई दिल्ली: माहवारी प्रकृति की देन है. महिलाओं के साथ होने वाली यह चीज प्रकृति ने प्रदान की है, लेकिन कई जगहों पर महिलाओं को पीरियड्स के कारण नर्क जैसी स्थितियों का सामना करना पड़ता है। पीरियड्स के दौरान उन्हें घर से बाहर निकाल दिया जाता है।

नेपाल के कुछ इलाकों में आज भी इस अंधविश्वास को माना जा रहा है। इसे छौपदी व्यवस्था के नाम से जाना जाता है। जिसके मुताबिक पीरियड्स के दौरान महिलाओं को घरों से बाहर रखा जाता है। इन्हें घर के बाहर छौपड़ी नामक झोंपड़ी में रखा जाता है। इस रिवाज के अनुसार विवाहित महिलाओं को एक सप्ताह के लिए छौपदी में रहना होता है जबकि अविवाहित महिलाओं को एक दिन की अवधि में रहना पड़ता है।

नेपाल में पीरियड्स के दौरान महिलाओं पर बैन है। वह न तो घर में रह सकती है, न ही रसोई में जा सकती है, न ही मंदिर जा सकती है, न ही वह तालाब या सार्वजनिक नल का पानी पी सकती है। उनके साथ अजनबियों जैसा व्यवहार किया जाता है। हालांकि इस प्रथा पर प्रतिबंध लगा दिया गया है, लेकिन पश्चिमी नेपाल के इलाकों में यह प्रथा अभी भी जारी है।