इस दिशा में मुंह करके सोने से हो सकता है नुकसान, जानिए किस दिशा में सोना है फायदेमंद

नई दिल्ली: कहा जाता है कि अच्छी सेहत के लिए पर्याप्त नींद भी जरूरी है. लेकिन सोते समय भी कई बातों का ध्यान रखना जरूरी है, यह बात शायद कम ही लोग जानते होंगे। दिन भर के काम के बाद जब आप रात को सोते हैं तो लेटते ही जिस जगह आपकी नजर पड़ती है वहीं गिर जाती है। सोते समय हम इस बात का ध्यान नहीं रखते हैं कि हमें किस दिशा में सिर करके सोना चाहिए और हमारा सिर किस दिशा में है। अक्सर हम इन बातों को नजरअंदाज कर देते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि इन छोटी-छोटी बातों का असर हमारे जीवन पर भी पड़ता है। पर्याप्त नींद का महत्व विज्ञान और धर्म दोनों में बताया गया है।

वास्तु शास्त्र के अनुसार भी हमें अपने सोने के तरीके को सही करना चाहिए। वास्तु के अनुसार सोते समय हमारा सिर दक्षिण या उत्तर-दक्षिण दिशा की ओर होना चाहिए। यानी हमारे पैर उत्तर और पश्चिम की ओर होने चाहिए। अगर हम इन बातों को ध्यान में रखकर सोते हैं तो यह हमारे लिए फायदेमंद हो सकता है। आइए जानते हैं वास्तु शास्त्र के अनुसार सोने से जुड़ी कुछ बातें।

दक्षिण दिशा की ओर मुंह करके सोने के फायदे

वास्तु शास्त्र कहता है कि अगर व्यक्ति दक्षिण दिशा में सिर करके सोता है तो उसका स्वास्थ्य अच्छा रहता है। इतना ही नहीं ये कई तरह की बीमारियों से भी दूर रहते हैं। यह मान्यता भी वैज्ञानिक तथ्यों पर आधारित है। कहा जाता है कि दक्षिण दिशा में पैर रखकर सोने से पैरों से चुंबकीय धारा प्रवेश करती है और सिर से निकल जाती है। जिससे मानसिक तनाव बढ़ जाता है और सुबह उठते ही मन भारी होने लगता है।

सिर को पूर्व दिशा में रखें

आप चाहें तो पूर्व में सिर और पश्चिम में पैर रखकर भी सो सकते हैं। ऐसा इसलिए कहा गया है क्योंकि सूर्य पूर्व दिशा से निकलता है। वहीं, सूर्य को हिंदू धर्म में जीवन दाता भी कहा जाता है। ऐसे में पूर्व दिशा में पैर रखकर सोना शुभ नहीं माना जाता है।

सोने के बारे में महत्वपूर्ण बातें

नींद का शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य से गहरा संबंध है। ऋषि-मुनियों ने सोने से पहले कुछ नियम बनाए हैं। आइए जानते हैं उन नियमों के बारे में एक बार।

1. शास्त्रों में शाम को सोना वर्जित है।

2. फिट रहने के लिए सोने से दो घंटे पहले ही खाना चाहिए। जिससे व्यक्ति को पेट की समस्या न हो।

3. यदि कोई अधिक महत्वपूर्ण कार्य न हो तो देर रात तक नहीं उठना चाहिए।

4. कहा जाता है सोने से पहले मन शांत होना चाहिए और भगवान का ध्यान जरूरी है.