कोरोना खतरे के चलते राज्य के अस्पतालों में स्टाफ की कमी? सरकार ने सदन में दी जानकारी

सदन में कार्यवाही के दौरान स्वास्थ्य मंत्री से दिल्ली के अस्पतालों में मेडिकल स्टाफ की कमी को लेकर प्रश्न पूछा गया

दिल्ली में तेजी से बढ़ रहे कोविड के केसों के मध्य दिल्ली विधानसभा का शीतकालीन सत्र 03 जनवरी से शुरू हो गया है। एक तरह से जहां दिल्ली की सरकार ने कोविड-19 आपदा की तीसरी लहर से लड़ने की तैयारी शुरू कर दी है। तो वहीं, सदन में कार्यवाही के दौरान स्वास्थ्य मंत्री से दिल्ली के अस्पतालों में मेडिकल स्टाफ की कमी को लेकर प्रश्न पूछा गया।

corona

खबर के मुताबिक राजधानी के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन से विधानसभा में प्रश्न पूछा गया कि क्या राजधानी के अस्पतालों में चिकित्सकों, नर्सों, पैरा मेडिकल व नॉन मेडिकल टीम की कमी है? इसके उत्तर में स्वास्थ्य मंत्री ने अस्पतालों में किसी भी तरह की कमी की बात से मना किया। साथ ही उन्होंने अस्पतालों में खाली पड़े पदों का आंकड़ा भी विधानसभा के सामने रखा।

विधानसभा में जवाब देते हुए स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने सूचना दी कि केजरीवाल सरकार के अस्पतालों में स्पेशलिस्ट के 1236 स्वीकृत पद हैं। इनमें से 932 पदों पर रेगुलर भर्ती हो चुकी है, जबकि 43 पद कॉन्ट्रैक्ट पर हैं। वहीं, स्पेशलिस्ट के 261 पद खाली हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close