भारत के इस राज्य में बन रही 108 फीट ऊंची योद्धा की मूर्ति, 4000 KG है तलवार का वजन, देखें तस्वीर

बेंगलुरू इंटरनेशनल एयरपोर्ट के कैंपस में 108 फीट ऊंची केम्पे गौड़ा प्रतिमा में 4,000 किलोग्राम की तलवार लगाई जा रही है। ये प्रतिमा 23 एकड़ के...

बेंगलुरू। बेंगलुरू इंटरनेशनल एयरपोर्ट के कैंपस में 108 फीट ऊंची केम्पे गौड़ा प्रतिमा में 4,000 किलोग्राम की तलवार लगाई जा रही है। ये प्रतिमा 23 एकड़ के हेरिटेज पार्क में बन रही है। बता दें कि इस पार्क को शहर के संस्थापक केम्पे गौड़ा के नाम पर विकसित किया जा रहा है।

STUTUE

मिली जानकारी के मुताबिक प्रतिमा को हवाई अड्डे के प्रमुख आकर्षण के रूप में पेश करने का प्लान किया जा रहा है। बेंगलुरु से आने और जाने वाले यात्रियों को इस बेहतरीन वास्तुशिल्प को देखने का अनुभव प्राप्त होगा। ये भारी भरकम तलवार सोमवार को एक विशेष ट्रक से नई दिल्ली से बेंगलुरु पहुंची। सीएन उच्च शिक्षा मंत्री अश्वथ नारायण ने इस 35 फुट लंबी तलवार के बेंगलुरु पहुंचने पर खुशी जताई है।

शिक्षा मंत्री के कार्यालय से जारी एक बयान में कहा कि पुजारियों ने इस अवसर पर ‘शक्ति पूजा’ की और अश्वथ नारायण ने समारोह में प्रतिभा किया। बता दें की इस प्रतिमा का निर्माण 85 करोड़ रुपये की लागत से किया जा रहा है। नोएडा के पद्मभूषण पुरस्कार विजेता वास्तुकार राम सुतार के संरक्षण में इस प्रतिमा को बनाया जा रहा है। मामूल हो कि राम वी सुतार एक मूर्तिकार हैं जो महाराष्ट्र के धूलिया जिले के रहने वाले हैं।

राम वी सुतार ने जेजे स्कूल ऑफ आर्ट, बॉम्बे से स्वर्ण पदक के साथ स्नातक किया। राम सुतार फाइन आर्ट्स प्राइवेट लिमिटेड भारत की सबसे बड़ी कंपनियों में से एक है जो स्मारकीय मूर्तियां बनाती है। गुजरात में लगाई गई सरदार वल्लभभाई पटेल को चित्रित करते हुए स्टैच्यू ऑफ यूनिटी को डिजाइन करने के साथ ही सुतार ने बेंगलुरु के विधानसभा में महात्मा गांधी की प्रतिमा को भी तैयार किया है।