अजब-गजब: श्राप की वजह से इस गांव के लोग नहीं बनवाते दो मंजिला घर, जानें पूरी कहानी

आज भी भारत की एक बड़ी जनसंख्या गांवों में रहती है। यही वजह है कि भारत को गांवों का देश कहा जाता है। भारत में हर गांव की अपनी एक अलग...

आज भी भारत की एक बड़ी जनसंख्या गांवों में रहती है। यही वजह है कि भारत को गांवों का देश कहा जाता है। भारत में हर गांव की अपनी एक अलग मान्यता, रीति रिवाज और संस्कृति होती है। राजस्थान में भी ऐसा ही एक गांव है जो अपनी एक खास वजह के लिए मशहूर है। ये गांव है राजस्थान के चुरू जिले में सरदारशहर तहसील का उडसर।

RAJSTHAN

बताया जाता है कि उडसर गांव में बीते 700 साल से किसी ने अपने घर को दो मंजिला नहीं बनवाया है। इस गांव के लोगों का मानना है कि ,” गांव को श्राप है कि अगर किसी ने इस गांव में दो मंजिला घर बनवाया तो उसके परिवार को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ेगा। इस श्राप के पीछे जो कहानी बताई जाती है वो काफी हैरान करने वाली है।

कहते हैं कि इस गांव को 700 साल पहले एक ऐसा श्राप मिला था जिसने पूरे गांव के लोगों का जीवन ही बदल दिया। आज भी इस गांव के किसी शख्स की दो मंजिला घर बनवाने की हिम्मत नहीं होती। बताया जाता है कि करीब 700 साल पहले इस गांव में भेमिया नाम का एक व्यक्ति रहता था। एक दिन उसे पता चला कि गांव में चोर आ गए हैं। चोर ग्रामीणों के पशुओं को चुरा कर ले जाने लगे।

चोरों को पशु चुराते देख भेमिया अकेले ही उनसे भिड़ गया। इस दौरान चोरों ने उसे बुरी तरह से पीटकर लहूलुहान कर दिया। भेमिया चोरों से खुद को बचाने के लिए जैसे तैसे अपनी ससुराल पहुंचा और घर की दूसरी मंजिल पर छिप गया। चोरों ने उसका पीछा किया और उसे वहां से भी पकड़ लिया। इसके बाद चोरों ने भेमिया और उसके ससुराल वालों को भी जमकर पीटा और अंत में भेमिया का गला काट दिया।

इसके बाद भी भेमिया चोरों से लड़ता रहा और अपनी गांव की सीमा के पास आ गया। इस दौरान भेमिया का धड़ उडसर गांव में गिरा। इस घटना का पता जब भेमिया की पत्नी को चला तो उन्होंने क्रोध में आकर पूरे गांव वालों को श्राप दे दिया कि अगर किसी ने भी अपने घर को दूसरी मंजिल तक बनवाया उसके परिवार का सर्वनाश हो जायेगा। हालांकि, इस बात का कोई प्रामाणिक सबूत नहीं है।