घर में सालों से सजे साधारण फूलदान की कीमत निकली 14 करोड़ रुपये, जानें क्या है खासियत

एक डॉक्टर के घर की रसोई में सालों से एक फूलदान सजा कर रखा हुआ था लेकिन उन्हें नहीं पता था के ये फूलदान बेशकीमती है...

एक डॉक्टर के घर की रसोई में सालों से एक फूलदान सजा कर रखा हुआ था लेकिन उन्हें नहीं पता था के ये फूलदान बेशकीमती है और कभी ये चीन के किसी सम्राट के महल में सजा करता था। हरे नीले रंग का ये चीनी फूलदान 18वीं सदी का है। इसे सोने और चांदी से सजाया गया था। ये फूलदान कई वर्षों तक ब्रिटेन की एक रसोई की शोभा बढ़ाता रहा लेकिन जब इतिहासकारों को पता चला कि ये फूलदान किसी दौर में एक चीनी सम्राट के महल में सजता था तो इसकी नीलामी की गई। नीलामी में ये फूलदान 18 लाख डॉलर यानी करीब 14 करोड़ रुपए में बिका।

 

vase
एक विशेषज्ञ का कहना है कि इस फूलदान का इतिहास 19वीं शताब्दी में चीनी महलों की लूटपाट से जुड़ा है। इस बेशकीमती फूलदान को विदेशी सैनिकों ने 19वीं या 20वीं सदी की शुरुआत में लूटा था। इस फूलदान को नीलामी करने वाली कंपनी ड्रेवेट्स का कहना है कि यह फूलदान काफी बड़ा है, इसकी लंबाई लगभग 2 फीट है, इस पर जो चिन्ह बना हुआ है वह किंग राजवंश (के छठे सम्राट कियानलाॉन्ग से जुड़ा है।

इन्होंने 1735 से 1795 तक चीन पर शासन किया था। विशेषज्ञ बताते हैं कि इस फूलदान को ‘सैक्रीफिशियल ब्लू’ नाम के रंग से पेंट किया गया है। यह नाम इसलिए क्योंकि इसी रंग से बीजिंग में ‘स्वर्ग के मंदिर’ के कुछ हिस्सों को पेंट किया गया है। इस मंदिर में चीन के सम्राटों द्वारा जानवरों की बलि इस उम्मीद में दी जाती थी ऐसा करने से फसल अच्छी होगी।

फूलदान को चांदी और सोने के रंगों से सजाया गया है और इस पर बादल, सारस, पंखे, बांसुरी और चमगादड़ बने हुए हैं। बताया जा रहा है कि इस फूलदान को उस जमाने में किसी ऐसे महल में रखा गया होगा, जहां चीनी सम्राट रहते थे लेकिन 19वीं और 20वीं शताब्दी की शुरुआत में चीन की राजनीतिक स्थिति खराब हो गई क्योंकि चीन, यूरोप और अमेरिका से कई युद्ध हार गया था और विदेशी सैनिकों ने कई महलों को लूट लिया था।