CM योगी के नाम का फिर विदेश में बजा डंका, अमेरिकी पत्रिका ने तारीफ में पढ़े कसीदे

कोरोना के खिलाफ लड़ाई में उत्तर प्रदेश सरकार के किए प्रयासों को विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के बाद एक बार फिर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सराहना मिली है।

लखनऊ। कोरोना के खिलाफ लड़ाई में उत्तर प्रदेश सरकार के किए प्रयासों को विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के बाद एक बार फिर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सराहना मिली है। टाइम मैगजीन ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कोरोना नियंत्रण के लिए उठाए गए कदमों की तारीफ को लेकर रिपोर्ट प्रकाशित की है।
YOGI

योगी सरकार की सराहना की

इसमें उत्तर प्रदेश जैसी बड़ी आबादी वाले राज्य में कोरोना नियंत्रण के कार्यों को लेकर योगी सरकार की सराहना की गई है। रिपोर्ट में प्रदेश में कोरोना संक्रमण से हुई मौतों पर नियंत्रण और रिकवरी दर में लगातार वृद्धि को लेकर सरकार के प्रयासों की तारीफ की गई है। 
 
रिपोर्ट में कहा गया है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्वास्थ्य ढांचे की प्रतिकूल परिस्थितियों में भी जिस तरह से कोरोना महामारी पर नियंत्रण के लिए कदम उठाए वह सभी के लिए अतुलनीय उदाहरण है। फरवरी 2020 में पहला मामला सामने आने के बाद जिस तरह से मुख्यमंत्री ने प्रदेश की स्वास्थ्य व्यवस्था का आकलन किया और अधिकारियों के साथ जरुरी कदम उठाने की रणनीति बनाई, वह प्रशंसनीय है। जब देश के अन्य राज्यों की सरकारें कोई भी कदम नहीं उठा रही थीं, उसी वक्त मुख्यमंत्री योगी ने लड़ाई का पूरा खाका तैयार कर लिया।
 
रिपोर्ट में कहा गया है कि जनता कर्फ्यू 22 मार्च, 2020 को किया गया था। लेकिन, योगी आदित्यनाथ पहले मुख्यमंत्री थे, जिन्होंने तीन दिन का लॉक डाउन तत्काल घोषित कर स्थितियों का आकलन कर लिया था, जिससे लॉकडाउन के दौरान आम लोगों को आवश्यक वस्तुओं की सप्लाई बाधित न हो।
 
वहीं जब माहमारी फैलने लगी उस वक्त राज्य में एक ही प्रयोगशाला थी, जिसकी क्षमता महज 60 नमूने प्रतिदिन की थी। लेकिन, अपने सभी रिसोर्स का अधिकतम उपयोग करते हुए इस समय 234 प्रयोगशालाएं जांच का कार्य कर रही हैं। इनकी बदौलत आज प्रदेश में 1.75 लाख कोरोना नमूनों की जांच प्रतिदिन की जा सकती है। सर्वाधिक कोरोना टेस्ट का रिकॉर्ड भी उत्तर प्रदेश के नाम ही है। अब तक करीब 1.9 करोड़ टेस्ट किए जा चुके हैं।

कोविड अस्पतालों को भी तेजी से तैयार किया

प्रदेश सरकार ने मरीजों के बेहतर इलाज के लिए कोविड अस्पतालों को भी तेजी से तैयार किया। प्रदेश में अब 674 कोविड अस्पताल हैं। इनमें 571 लेवल-1 के और 77 अस्पताल लेवल-2 के हैं। साथ ही, 26 अस्पताल लेवल- 3 के तैयार किए गए हैं। प्रदेश में कोरोना से हुई मौतों पर नियंत्रण और रिकवरी दर में 94 प्रतिशत से अधिक के इजाफे को लेकर मैगजीन ने योगी आदित्यनाथ की सक्रियता को सराहा है। 

योगी के टीम-11 का विशेष जिक्र किया गया

मैगजीन में मुख्यमंत्री योगी के टीम-11 का विशेष जिक्र किया गया है। मुख्यमंत्री ने प्रदेश के वरिष्ठ अफसरों को लेकर टीम-11 का गठन किया, जिनके साथ वह प्रतिदिन प्रदेश की समीक्षा करते हैं और उचित निर्देश देते हैं। 

कान्ट्रेक्ट ट्रेसिंग को लेकर भी किए गए कार्यों को भी सराहा

मैगजीन ने कोरोना नियंत्रण को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार की कान्ट्रेक्ट ट्रेसिंग को लेकर भी किए गए कार्यों को भी सराहा है। योगी सरकार इसके जरिए घर-घर जाकर लक्षण वाले मरीजों की तलाश व जांच करती है। कान्ट्रेक्ट ट्रेसिंग की अनूठी पहल को इससे पहले विश्व स्वास्थ्य संगठन से भी सराहना मिल चुकी है, इसके जरिए भी संक्रमित मरीजों की पहचान करने में काफी मदद मिली है। 
 
वहीं मैगजीन ने इंटीग्रेटेड कमाण्ड ऐण्ड कण्ट्रोल सेण्टर प्रदेश के सभी 75 जिलों में बनाए जाने का भी जिक्र भी किया है। इसके जरिए सरकार के उठाये कार्यों की भी तारीफ की गई है। इसके साथ ही मैगजीन ने अप्रवासियों के लिए किए गए कार्यों, रोजगार में लगातार इजाफा आदि को लेकर भी मुख्यमंत्री योगी और उनकी सरकार के कार्यों की प्रशंसा की है।  

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *