विधानसभा कवरेज करने वाले पत्रकारों के हाथों से छींनी गयी थालियां,धक्के मारकर किया गया बाहर

img

www.upkiran.org

यूपी किरण ब्यूरो

लखनऊ।। विधानसभा में कुछ मंत्रियों के इशारे पर पत्रकारों के साथ इस दशक का सबसे बुरा बर्ताव हुआ। विधानसभा में पत्रकारों के हाथों से भोजन की थालियां छिनवा ली गईं। इसमें आधा दर्जन से अधिक वरिष्ठ पत्रकारों जिसमें महिलाएं भी शामिल थी।

पत्रकारों के हाथ पकड़कर उद्दंडता पूर्वक विधानसभा रक्षकों व मार्शलों ने हाथ से थाली छीनकर सभी पत्रकारों को कैंटीन से बाहर खदेड़ दिया।

Image may contain: 12 people, indoor

 

पत्रकारों के साथ इस तरह का बर्ताव करते हुए नियम कानून का हवाला देते हुए धक्के मार-मारकर कैंटीन से बाहर खदेड़ा गया और जमकर अभद्रता की गई जिसको लेकर एक तरफ तो पत्रकारों में काफी रोश है तो वहीं दूसरी तरफ वहां मौजूद अधिकारी पत्रकारों की इस दूर्दशा पर हंसते रहे।

https://www.facebook.com/photo.php?fbid=1789146584434122&set=pcb.1789147377767376&type=3&theater

नाराज़ पत्रकारों ने संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना का घेराव किया। बताया जाता है कि इधर कई दिनों से विधानसभा की हो रही रिपोर्टिंग से यूपी सरकार के कई मंत्री नाराज थे। फिलहाल मामला विधानसभा अध्यक्ष तक पहुंच चुका है।

खाली होंगे माया-मुलायम, अखिलेश के बंगले, पत्रकारों पर भी लटकी तलवार

वरिष्ठ पत्रकार राजबीर सिंह ने कहा कि यूपी वास्तव में इन दिनों उत्तम प्रदेश बन रहा है, ये उत्तम प्रदेश कैसे बन रहा है आज और कल की दो घटनाओं से समझा जा सकता है, ये दोनों घटनाएं लोकतंत्र के चौथे स्तंभ से जुड़ी हुई है….पहली घटना आज विधानसभा में चल रहे सत्र के दौरान घटी..दशकों से सत्र के दौरान ये व्यवस्था रही है कि जब भी विभागीय बजट पेश होते है सदन के सदस्यों व पत्रकार को सरकार की ओर से भोजन की व्यवस्था होती है

…लेकिन आज बजट के बाद जब कैंटीन में पत्रकार भोजन के लिये गये तो विधानसभा के मार्शलों ने उन्हें खाना खाने से रोका…चूंकि खाने पर रोक की कोई पूर्व सूचना नहीं थी। इसलिये कई पत्रकारों ने प्लेटे उठा ली थी उनसे प्लेटें तक छीन ली गई..हलांकि बाद में घटना की जानकारी होने पर संसदीय कार्यमंत्री सुरेश खन्ना जी आये उन्होंने खेद प्रकट किया लेकिन इस घटना से अपमानित सभी पत्रकारों ने भोजन करने से इंकार कर दिया…

दूसरी घटना कल दोपहर की है..जब राजधानी के वरिष्ठ पत्रकार संजय शर्मा के गोमती नगर स्थित आफिस में दिन दहाड़े बदमाशों ने हमला कर दिया, आफिस में काम करने वाली कई महिला पत्रकारों के साथ बदमाशों ने बदमिजाजी भी की…

हलांकि हम ये सब सह कर भी बीजेपी सरकार के ही गुण गायेंगे क्योंकि हम प्रगतिशील पत्रकार हैं।

फोटोः फाइल

इसे भी पढ़ें

http://upkiran.org/5659

 

Related News