Yamuna Expressway पर अब नहीं होंगे हादसे, सुरक्षा के नए उपायों को लेकर बनाई जा रही कार्ययोजना

यमुना एक्सप्रेसवे पर इसी महीने में हुए दो बड़े हादसों ने सरकार को नए सुरक्षा उपायों पर सोचने के लिए मजबूर कर दिया। इन उपायों में तय...

ग्रेटर नोएडा। यमुना एक्सप्रेसवे पर इसी महीने में हुए दो बड़े हादसों ने सरकार को नए सुरक्षा उपायों पर सोचने के लिए मजबूर कर दिया। इन उपायों में तय लेन का पालन कराने, ओवरलोड वाहनों पर अंकुश लगाने, एंबुलेंस और पेट्रोलिंग वाहनों की बढ़ोतरी आदि को शामिल किया जाएगा। इसके साथ ही जागरूकता अभियान भी चलाया जाएगा। इस कार्ययोजना को यमुना एक्सप्रेस-वे प्रबंधन और यमुना प्राधिकरण मिलकर लागू करेंगे।

Yamuna Expressway

गौरतलब है कि यमुना एक्सप्रेस-वे पर मई महीने में दो बड़े हादसे हुए। एक हादसे में सात और दूसरे हादसे में पांच लोगों को जान गंवानी पड़ी। इन दोनों ही हादसों की वजह आगे चल रहे ओवरलोड वाहन रहे। ऐसे में इन हादसों के लिए इन्हीं ओवरलोड वाहनों को जिम्मेदार ठहरायाजा रहा है। इन दुर्घटनाओं के बाद यमुना एक्सप्रेस-वे पर सुरक्षा उपायों की फिर समीक्षा करने की आवश्यकता पड़ी है।

अब यमुना एक्सप्रेस-वे प्रबंधन और यमुना प्राधिकरण मिलकर कुछ नई कार्ययोजना बनाएंगे और उसे लागू करेंगे ताकि हादसों में और कमी लाई जा सके।। यीडा सीईओ डॉ. अरुणवीर सिंह ने बताया है कियमुना एक्सप्रेसवे पर मई में दो बड़े हादसे हुए हैं। इन हादसों पर अंकुश लगाने के लिए कई उपाय किए जाएंगे। नई कार्ययोजना पर कम किया जा रहा है

सीएम के सामने भी उठा मुद्दा

बीते दिनों लखनऊ में हुई मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सड़क सुरक्षा बैठक में भी यमुना एक्सप्रेसवे का मुद्दा उठाया गया था। सीएम को एक्सप्रेसवे पर सुरक्षा के लिए किए गए उपायों को बताया गया। आगामी योजनाओं के बारे में भी अवगत कराया गया।