पीएम मोदी के इस मंत्री ने अचानक CAA पर दिया बड़ा बयान, दिए कानून में बदलाव के संकेत

नई दिल्ली॥ भारत में सीएए लागू हो चुका है। लेकिन, नागरिकता कानून के विरूद्ध अब तक विरोध प्रदर्शन जारी है। वहीं, विरोध के गहमागहमी के बीच केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने नागरिकता संशोधन कानून को लेकर बड़ा बयान दिया है। केंद्रीय मंत्री ने बताया कि लोगों की भावनाओं का विचार करते हुए इस पर चेंजेस हो सकते हैं।

केंद्रीय मंत्री अठावले ने कहा कि नागरिकता कानून पर सरकार ने कुछ सुझाव मांगे हैं। गौरतलब है कि बीते दिनों होम मिनिस्टर अमित शाह ने साफ कहा था कि नागरिकता कानून पर सरकार बिल्कुल पीछे नहीं हटेगी, जिसको विरोध करना है वो करे। हालांकि, रालेगण सिद्धि में बीते 34 दिन से मौन व्रत पर बैठे अन्ना हजारे से मुलाकात के बाद रामदास अठावले ने संकेत दिए हैं कि सरकार कानून पर विचार के मूड में है।

राजधानी लखनऊ में एक सभा के दौरान अमित शाह ने बताया था कि 70 वर्ष से पीड़ित लोगों को PM मोदी ने जीवन का नया अध्याय शुरू करने का मौका दिया है। मैं डंके की चोट पर कहने आया हूं कि जिसको विरोध करना है करें, नागरिकता कानून वापस नहीं होगा। हालांकि, रामदास अठावले के बयान पर सरकार या किसी और नेता की अब तक कोई टिप्पणी नहीं आई है। लेकिन, नागरिकता कानून पर एक बार फिर चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया है।

पढ़िए-सिर्फ मुस्लिमों को ही नहीं बल्कि इस जाति के लोगों को भी है CAA से खतरा!

आपको बता दें कि विपक्षी पार्टियां निरंतर नागरिकता कानून का विरोध कर रही हैं। इतना ही नहीं कई राज्यों ने इस कानून को लागू करने से इनकार कर दिया है। इसके अलावा केरल और पंजाब ने इस बिल के विरूद्ध विधानसभा से प्रस्ताव भी पारित करा दिया है। अब देखना यह है कि अठावले के बयान में कितनी सच्चाई है। क्या, सच में सरकार नागरिकता कानून पर विचार कर रही है? क्या, नागरिकता कानून में बदलाव हो सकता है?

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close