पत्रकारिता सबसे बड़ा युग-धर्म है, सबसे बड़ा सत्कर्म है: शांत

लखनऊ।। उत्तर प्रदेश श्रमजीवी पत्रकार यूनियन पंजीकृत के लखनऊ मंडल एवं जिला इकाई का शपथ ग्रहण समारोह दारुलशफा के ए ब्लॉक कामन हाल में हुआ। उक्त समारोह में सैकड़ों की तादाद में पत्रकारों ने भाग लिया एवं श्रमजीवी पत्रकार यूनियन के प्रति अपनी आस्था एवं निष्ठा व्यक्त की। समारोह में सभी पत्रकार साथियों को सदस्यता दिलाने के साथ ही उन्हें सम्मानपत्र और परिचयपत्र दिये गये। पत्रकारों को निष्ठा पूर्वक कार्य करने और यूनियन के संविधान के प्रति आस्था, पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई गई।

उ.प्र. श्रमजीवी पत्रकार यूनियन पंजीकृत के प्रदेश अध्यक्ष सियाराम पाण्डेय ‘शांत’ ने कहा कि पत्रकारिता सबसे बड़ा युग धर्म है। सबसे बड़ा सत्कर्म है। पत्रकार संवेदनशील और भावनात्मक होता है। वह समाज का भला करने के लिए सदैव तत्पर रहता है लेकिन यह सब करते हुए भी उसे अपने विवेक का इस्तेमाल करना चाहिए ताकि गलत लोग उसकी भलमानसहत का फायदा न उठा लें। न तो पत्रकार बड़ा होता है और न ही पद, संगठन ही सर्वोपरि होता है । अत: संगठन के संविधान के प्रति निष्ठा रखते हुए संगठन को अधिक से अधिक शक्तिशाली बनाने के प्रयास हम सभी को करना है।

उन्होंने आगामी फरवरी माह में वîकग जर्नलिस्ट यूनियन की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की लखनऊ में होने वाली दो दिवसीय महत्वपूर्ण बैठक की जानकारी देते हुए कहा कि यह लखनऊ का सौभाग्य है कि पूरे देश के वरिष्ठ पत्रकारों की मेजबानी करने का दायित्व मिला है, जिनमें प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया के पदाधिकारी भी उपस्थित रहेंगे। इस अवसर पर एक स्मारिका का भी विमोचन किया जाएगा जिसमें श्रमजीवी पत्रकार यूनियन पंजीकृत का इतिहास तथा यूनियन से जुड़े पत्रकारों के लेख प्रकाशित किए जायेंगे।

यूनियन के वरिष्ठ प्रदेश उपाध्यक्ष गंगा प्रसाद पाण्डेय ने कहा कि पत्रकारों को पत्रकारिता के साथ अपने घर-परिवार और व्यवसाय पर भी ध्यान देना चाहिए। आज पत्रकार उपेक्षा के शिकार हैं। सरकार उनकी समस्याओंका समाधान नहीं कर पा रही है। इसलिये उन्हें संगठित होकर अपनी आवाज बुलंद करने की जरूररत है। श्री पाण्डेय ने कहा कि श्रमजीवी पत्रकार यूनियन 1950 से सक्रिय पत्रकारों की सबसे बड़ी और पहली यूनियन है जो भारत के 27 प्रांतों में मजबूती के साथ पत्रकारों के हितों की रक्षा हेतु लगातार संघर्ष करती आई है क्योंकि पत्रकार भी एक संस्थान में कार्य करता है। अत: वह भी श्रमिक की श्रेणी में आता है, श्रमजीवी पत्रकार यूनियन पत्रकारों को श्रमिक मानते हुए उनकी मेहनत का वाजिब हक दिलाने की पक्षधर रही है।

सभा को संबोधित करते हुए प्रदेश महामंत्री रमेश शंकर पाण्डेय ने कहा कि पत्रकारों को निरंतर एकजुट होकर सरकार से सीधा संवाद स्थापित करना चाहिए जिससे कि आम जन की समस्याओं को उठाने वाले पत्रकारों को अपनी समस्या के समाधान के लिए प्रताड़ित न होना पड़े। माह में कम से कम एक बार पत्रकारों के प्रतिनिधि मंडल को मुख्यमंत्री, गृहमंत्री, राज्यपाल,डी,जी,पी, तथा सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों से मिलकर पत्रकारों की समस्याओं से अवगत कराने एवं उसके निवारण के लगातार प्रयास करते रहना चाहिए।

इस अवसर पर राजधानी लखनऊ के वरिष्ठ पत्रकारों रोहिताश मिश्रा,एस.के. गोपाल, नीरज उपाध्याय,ए,एस, .खान, जमाल मिर्जा, पवन श्रीवास्तव, आसिफ उल्ला खान, नवीन वर्मा, अखिलेश द्बिवेदी, महेश पांडे, अवनीश कुमार सागर, मोहम्मद रईस, अरुण कुमार टंडन उर्फ खबरी अंकल, अनूप सिह, मोहम्मद सलीम खान, मोहम्मद यूसुफ, अजमत उल्ला खान, अखिलेश दुबे, मोहम्मद वकील, रविकांत दीक्षित, शाहनवाज खान, फाजिल खान, आशीष मौर्य, संजीव श्रीवास्तव, मथुरा प्रसाद वर्मा, कमाल खान,जुल्फिकार मिर्जा, सैयद नूरुल हसन, मोहम्मद वकील, राजीव त्रिपाठी, सहित सैकड़ों पत्रकारों ने श्रमजीवी पत्रकार यूनियन पंजीकृत की अधिकारिक रूप से सदस्यता ली । इस अवसर पर प्रदेश कोषाध्यक्ष पीयूष वाजपेयी, प्रदेश कार्यकारिणी के अशोक सिंह, अखिलेश गुप्ता और लखीमपुर से आए पत्रकार मनीष भी मौजूद रहे। सभा का समापन करते हुए लखनऊ मंडल अध्यक्ष श्री जमाल मिर्जा ने सभी उपस्थित पत्रकारों का आभार व्यक्त किया ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close