हिंदू जागरण मंच का बड़ा आरोप, मुस्लिम तुष्टीकरण कर रही है इस राज्य की सरकार

मुस्लिम तुष्टीकरण कर रही है उत्तराखंड सरकार

हिंदू जागरण मंच ने भाजपा की उत्तराखंड सरकार पर उत्तराखंड सरकार पर हिंदू विरोधी होने और मुस्लिम तुष्टीकरण करने का आरोप लगाया है।  गुरुवार को नैनीताल क्लब में पत्रकार वार्ता में मंच के प्रदेश अध्यक्ष कृष्ण सिंह बोरा ने कि पूरे प्रदेश में शासन-प्रशासन में एक जैसी मानसिकता नजर आ रही है। न्यायालय के आदेश पर प्रशासन के द्वारा भेदभावपूर्ण कार्रवाई की जा रही है।

Muslim

उन्होंने सरकार पर अकर्मण्यता और प्रशासन की कार्रवाई पर मूक समर्थन होने का आरोप भी लगाया और इसके खिलाफ जनता और धरना-प्रदर्शन, विधायकों के घेराव और मुस्लिम तुष्टीकरण के भुक्तभोगियों, लव जिहाल से पीड़ित राज्य की लड़कियों, मुस्लिमों से पीड़ित अनुसूचित वर्ग के लोगों व मंदिरों के पुजारियों आदि को साथ लेकर राजधानी में प्रदर्शन करने की भावी योजना का ऐलान भी किया।

बोरा ने भीमताल में जिला विकास प्राधिकरण कार्यालय से मात्र 100 मीटर की दूरी पर मस्जिद का अवैध निर्माण, नैनीताल में एक हिंदू नाई की दुकान की दुकान तोड़कर सामान निकालकर कब्जा करने वाले मुस्लिम लोगों पर कोई कार्रवाई न करने, हाई कोर्ट के धार्मिक स्थलों के अतिक्रमण व ध्वनि विस्तारक यंत्र हटाने संबंधी आदेश पर भी मस्जिदों-मजारों को बचाकर मुस्लिम तुष्टीकरण करने पर नाराजगी जताई।

उन्होंने लव जिहाद से पीड़ित हरिद्वार व देहरादून की तीन लड़कियों को संरक्षण देने के बजाय आरोपितों को बचाने, जसपुर में अनुसूचित समाज के व्यक्ति पर हमला करने वाले मुस्लिम वर्ग के व्यक्ति को पुलिस के बचाने, गौ हत्यारों के प्रति पुलिस द्वारा मित्रवत व्यवहार करने तथा दीपावली के केवल तीन दिन पहले पटाखों पर प्रतिबंध लगाने को लेकर भी सरकार के प्रति नाराजगी दिखाई।

इस मौके पर वीरांगना वाहिनी की जिलाध्यक्ष डाॅ. केतकी तारा कुमैया ने तथाकथित धर्मनिरपेक्षता की आढ़ में अल्पसंख्यकों का तुष्टीकरण व बहुसंख्यकों की भावनाओं के साथ खिलवाड़ करने का आरोप लगाते हुए संविधान के आर्टिकल 15 के तहत धारा 25, 26, 27, 28, 29 व 30 में बदलाव की आवश्यकता बताई। इस मौके पर मंच के प्रदेश प्रचार प्रमुख हरीश राणा, सोनी अनीश, सार्थक गहतोड़ी, लक्ष्मण मेहरा, मोहित व समीर आदि कार्यकर्ता भी मौजूद रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *