बच्चों का टीकाकरण- जरूरी नहीं स्कूल में पंजीकरण कराना; कौन-सा टीका लगेगा, जानें सब कुछ

बच्चों का टीकाकरण साइंटिस्टों द्वारा जांचा-परखा गया है। इससे बच्चों को कोई नुकसान नहीं

मध्य प्रदेश में अब 15 से 18 बरस के लड़के-लड़कियों को कोविड-19 का टीका लगाया जाएगा। इसके लिए वर्ष 2007 से पहले जन्म लेने वाले सभी पात्र होंगे। वैक्सीन कैसे लगवाएं? प्रक्रिया क्या होगी? आइए, जानते हैं राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन एमपी के वैक्सीनेशन निदेशक डॉ. संतोष शुक्ला से।

vaccinate children

वैक्सीनेशन कब से शुरू होगा?

एमपी में 3 जनवरी से 15-18 आय़ु के बच्चों को वैक्सीन लगना शुरू होगी।

बच्चों को वैक्सीन लगवाना क्यों अहम है?

राज्य में 18 साल से ज्यादा आयु के 95 फीसदी लोगों को कोविड-19 के डोज लग चुके हैं। अब 15 से 18 साल के उम्र के 48 लाख युवक-युवतियां हैं।

वैक्सीन कहां लगाया जाएगा?

प्राइवेट व सरकारी विद्यालय, नवोदय, केंद्रीय स्कूल आदि में लगाए जाएंगे।

क्या विद्यालय में रजिस्ट्रेशन कराना लाजिमी है?

विद्यालय में पंजीकरण कराना अनिवार्य नहीं है। सीधे केंद्र पर जाकर टीका लगाया जा सकता है।

कौना-सी वैक्सीन लगाई जाएगी?

सिर्फ कोवैक्सिन लगाया जाएगा।

दोनों खुराकों के बीच कितने दिन का फासला होगा?

दोनों डोज के बीच न्यूनतम 28 दिन और अधिकतम 42 दिन का गैप रहेगा।

ऐसे कराएं पंजीकरण

  • एक जनवरी से ऑनलाइन माध्यम से कोविन पोर्टल पर पंजीकरण किया जा सकता है।
  • विद्यालय का आई कार्ड और अन्य पहचान पत्र पंजीकरण मान्य होगा।
  • पंजीकरण यूनिक मोबाइल नंबर के माध्यम से होगा।

 

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close